हिमाचल में कांग्रेस का सूपड़ा साफ

भाजपा ने चारों सीटें एकतरफा अंदाज में जीतीं, पौने पांच लाख वोट के अंतर से जीते किशन कपूर

शिमला –हिमाचल भाजपा ने लोकसभा चुनाव को एकतरफा मुकाबला बना कर प्रदेश की चारों सीटों पर शानदार जीत दर्ज की है। प्रदेश में 70 फीसदी वोट हासिल कर भाजपा ने कांग्रेस के काडर को भी हड़प लिया है। हिमाचल में सबसे बड़ी जीत कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से किशन कपूर ने दर्ज की है। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी पवन काजल को चार लाख 77 हजार 623 मतों से एकतरफा अंदाज पटखनी दी है। किशन कपूर के सात लाख 25 हजार 218 मतों के मुकाबले पवन काजल को मात्र दो लाख 47 हजार 595 मत ही प्राप्त हुए। इस सीट पर मतदाताओं ने जातीय समीकरणों को भी बुरी तरह नकार दिया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की प्रतिष्ठा का सवाल बने मंडी संसदीय क्षेत्र में भाजपा ने पिछले लोकसभा चुनावों के मुकाबले 40 गुना बड़ी जीत दर्ज की है। भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा ने कांग्रेस के आश्रय शर्मा को चार लाख पांच हजार 459 वोटों से करारी पटखनी दी है। दूसरी बार निर्वाचित हुए रामस्वरूप शर्मा को छह लाख 47 हजार 189 वोट मिले हैं। इसके मुकाबले आश्रय शर्मा मात्र दो लाख 41 हजार 730 वोट ही ले पाए। इस सीट पर मंडी के मतदाताओं ने पंडित सुखराम के परिवार की सियासत को भी हाशिए पर धकेल दिया है। शिमला संसदीय क्षेत्र से भाजपा के सुरेश कश्यप ने कांग्रेस के धनीराम शांडिल को तीन लाख 27 हजार 515 मतों से हराया है। इस संसदीय क्षेत्र में भाजपा को छह लाख छह हजार 183 वोटों के मुकाबले कांग्रेस को दो लाख 78 हजार 268 मत लेकर समेट दिया गया। हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में भाजपा के अनुराग ठाकुर चौथी बार निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने कांग्रेस के रामलाल ठाकुर को तीन लाख 99 हजार 572 मतों से पराजित किया है। अनुराग ठाकुर ने छह लाख 82 हजार 692 वोट होसिल किए, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी राम लाल ठाकुर को तीन लाख 83 हजार 120 वोट ही हासिल हुए।

You might also like