हिमाचल में बनेगी कल्चर पॉलिसी

भाषा विभाग ने कलाकारों का पंजीकरण करने के दिए निर्देश

शिमला – हिमाचल में अब कल्चर पॉलिसी बनेगी। भाषा संस्कृति विभाग के  तहत ये पॉलिसी बनाई जा रही है। इस पॉलिसी के तहत कलाकारों के पंजीकरण की सुविधा शुरू कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक उच्च न्यायालय हिमाचल प्रदेश के दिशा-निर्देशों के अनुरूप भाषा संस्कृ ति विभाग द्वारा यह कदम उठाया जा रहा है। भाषा विभाग के मुताबिक 13 मई 2019 से पंजीकरण शुरू कर  दिया गया है। इस रजिस्ट्रेशन की समय अवधि 30 मई 2019 तक रखी गई है। संबंधित कलाकार अपनी विद्या का पूरा ब्यौरा देकर आवेदन कर सकते है। इस पॉलिसी का मकसद यह होगा कि इससे कलाकारों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों में प्राथमिकता देने के लिए क लाकारों का पंजीकरण किया जा रहा है। जिसके अनुरूप एक बेहतर प्रक्रिया के तहत उन्हें कार्यक्रम मिल सकेंगें। जानकारी के मुताबिक प्रदेश के कलाकारों को अंतरराष्ट्रीय / राष्ट्रीय / राज्य / जिला स्तर के मेलों तथा सार्वजनिक/ शासकीय उत्सवों में प्राथमिकता देने के लिए ही इस नीति का निर्माण करने वाला है। कलाकार की विद्या के अनुरूप उसका श्रेणी के हिसाब से उसक ा रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। सभी कलाकारों के पंजीकरण के बाद पॉलिसी का एक खाका तैयार किया जाएगा। इस पॉलिसी को अमलीजामा पहनाने के लिए प्रदेश में भाषा विभाग के अधिकारियों के साथ जल्द ही एक बैठक का आयोजन भी करेगा।

कलाकार यहां   करवाएं पंजीकरण

भाषा संस्कृति विभाग के मुताबिक अपनी विधा के अनुरूप ऑनलाइन/ आफलाइन पंजीकरण विभाग की गेयटी थियेटर की वेबसाइट तथा भूरी सिंह संग्रहालय की वेबसाइट में संलग्न प्रपत्र पर तथा जिला भाषा अधिकारियों के पास किया जा सकता है। 

You might also like