हेल्मेट पहना होता, तो बच जाती जान

दौलतपुर –चौकक्षेत्र के डंगोह खास का युवक अभिषेक जसवाल पुत्र राकेश  जसवाल सड़क हादसे का शिकार होकर पूरे गांव को गमगीन कर गया। मृतक अभिषेक जसवाल  (27) अभी अविवाहित था और परवाणू की एक फैक्टरी मंे कार्यरत था। गुरुवार को छुट्टी काटने घर आया था, परंतु शनिवार रात्रि नंगल जरियाला से घर वापस आते समय उसकी स्कूटी अंबोआ में अनियंत्रित होकर नाले में जा गिरी। सिर पर चोट आने की वजह से उठ नहीं पाया और रात्रि के अंधेरे मंे किसी ने उसे देखा भी नहीं अन्यथा अगर कोई उसे अस्पताल पहुंचा देता तो शायद उसकी जान बच जाती। अगर अभिषेक ने हेल्मेट डाला होता तो भी शायद उसकी जान बच जाती क्योंकि उसकी स्कूटी तो सही सलामत थी, परंतु पेड़ से टकराने की वजह से उसके सिर पर चोट आई थी। सारी रात्रि घटनास्थल पर ही पड़़े रहने से उसकी मौत हो गई। अभिषेक जीवित रहता तो रविवार को वापस ड्यूटी पर चला जाता क्योंकि उसे सोमवार को ड्यूटी पर पहुंचना था। परंतु विधाता को कुछ ओर ही मंजूर था और शनिवार उसका काल बन गया। मृतक की मां डंगोह खास में ही एक सिलाई सेंटर चलाती है वह अपने बेटे के लिए रिश्ता ढूंढ रही थी, परंतु दूल्हा बनने से पहले ही बेटा भगवान को प्यारा हो गया। घर के आंगन में बेटे की लाश देखकर उस पर तो मानों दुखों का पहाड़ गिर गया हो। मृतक अभिषेक का छोटा भाई भी फूट-फूट कर रो रहा था तो पिता राकेश जसवाल बेटे की लाश देखकर बेसुध हो गया। पिता राकेश जसवाल ने दुखी मन और रुंधे स्वर से बताया कि वह शनिवार को मंदिर मंे गए थे और वापस आकर सो गए, सोचा बेटा वापस आकर सो जाएगा, परंतु रविवार सुबह बेटे की मौत का समाचार पाकर स्तब्ध रह गए। ऊधर चौकी प्रभारी तरसेम सिंह ने बताया कि पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया है और आगामी कार्रवाई जारी है।

You might also like