हैदराबाद में फाइनल फाइट आज

चौथी बार खिताब के लिए भिडे़ंगी चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियंस

हैदराबाद – आईपीएल के इतिहास की दो सबसे सफल टीमें चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियंस रविवार को होने वाले टूर्नामेंट के 12वें संस्करण के फाइनल में चौथी बार खिताब के लिए एक-दूसरे को कड़ी चुनौती देंगे। चेन्नई और मुंबई आईपीएल में तीन-तीन बार खिताब जीत चुकी हैं और दोनों की नजरें चौथी बार खिताब पर हैं। आईपीएल इतिहास के दो सबसे सफल कप्तानों चेन्नई के महेंद्र सिंह धोनी और मुंबई के रोहित शर्मा एक-दूसरे को चुनौती देने के लिए कमर कस चुके हैं। टूर्नामेंट के लीग चरण में मुंबई चोटी और चेन्नई दूसरे स्थान पर रही थी। दोनों टीमों के बीच पहले क्वालिफायर में मुकाबला हुआ था, जिसमें मुंबई ने जीत हासिल की थी। चेन्नई ने दूसरे क्वालिफायर में विशाखपत्तनम में दिल्ली कैपिटल्स को हराकर आठवीं बार फाइनल में जगह बनाई। चेन्नई ने इससे पहले 2008, 2010, 2011, 2012, 2013, 2015 और 2018 के फाइनल में जगह बनाई थी और उसने 2010, 2011 तथा 2018 में खिताब जीता था। दूसरी तरफ मुंबई का यह पांचवां फाइनल है। मुंबई ने इससे पहले 2010, 2013, 2015 और 2017 के फाइनल में जगह बनाई थी और उसने 2013, 2015 तथा 2017 में खिताब जीता था। चेन्नई और मुंबई इससे पहले 2010, 2013 और 2015 के फाइनल में भिड़े थे, जिसमें चेन्नई ने 2010 में और मुंबई ने 2013 तथा 2015 में खिताबी जीत हासिल की थी। मुंबई ने अपना आखिरी खिताब 2017 में पुणे को हराकर जीता था, जबकि चेन्नई ने 2018 में हैदराबाद को हराकर खिताब जीता था।

दरवाजा तोड़ने वाले लोंग ही करेंगे अंपायरिंग

नई दिल्ली – ब्रिटिश अंपायर नाइजेल लोंग इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल में अंपायरिंग करेंगे, क्योंकि बीसीसीआई ने बंगलूर और हैदराबाद के बीच हुए मुकबाले के बाद गुस्सा जाहिर करने के मामले में कोई कार्रवाई नहीं करने का फैसला किया है। आईसीसी एलीट पैनल के अंपायर लोंग ने नोबाल को लेकर विराट कोहली और उमेश यादव से बहस के बाद स्टेडियम के एक कमरे के दरवाजे को नुकसान पहुंचा था। यह पता चला है कि प्रशासकों की समिति (सीओए) ने आईपीएल संचालन टीम से सलाह लेने के बाद लोंग को आईपीएल फाइनल में मैच अधिकारी की भूमिका निभाने की मंजूरी दे दी। अंपायर ने बाद में अपने व्यवहार के लिए माफी मांगी और नुकसान की भरपाई के लिए 5000 रुपए का भुगतान किया, लेकिन केएससीएस उन पर प्रतिबंध लगवाना चाहता था।  

फाइनल से पहले गरजे हार्दिक पांड्या रॉयल लड़ाई के लिए तैयार

नई दिल्ली – हार्दिक पांड्या ने ट्वीट के माध्यम से इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल से पहले अपनी प्रतिद्वंद्वी टीम को चेतावनी दी है। उनका यह पोस्ट तब आया है, जब उनकी टीम मुंबई इंडियंस ने फाइनल में जगह बना ली है। हार्दिक पांड्या ने ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा, रॉयल लड़ाई के लिए तैयार हूं। मुंबई को इस सीजन में फाइनल में पहुंचाने में हार्दिक का अहम योगदान रहा है। उन्होंने अभी तक 393 रन बनाए हैं। इनमें से कई अंतिम ओवरों में आए हैं। साथ ही उन्होंने अभी तक कुल 14 विकेट भी अपने नाम किए हैं। 

बैटिंग

टीम में शेन वॉटसन, फॉफ डु प्लेसिस, सुरेश रैना, अंबाती रायुडू और खुद एमएस धोनी जैसे खिलाड़ी हैं, जो न केवल अनुभवी हैं, बल्कि अपने दम पर मैच का रुख बदलने में सक्षम हैं। लोअर ऑर्डर में रविंद्र जडेजा और ड्वेन ब्रावो जैसे हिटर भी हैं। 

बॉलिंग

टीम की तेज गेंदबाजी में दीपक चहर लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्हें शार्दुल ठाकुर का सपोर्ट मिला, तो चेन्नई की बात बन सकती है। दूसरी ओर, चेन्नई का स्पिन अटैक मजबूत पक्ष है। हरभजन सिंह, जो पहले मुंबई के लिए खेलते थे, से बेहतर रोहित की कप्तानी टीम की कमजोरी शायद ही किसी को पता हो। इमरान ताहिर जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं। उन्होंने इस सीजन में अब तक 24 विकेट चटकाए हैं।

बल्लेबाजी

मुंबई इकलौती ऐसी टीम है, जिसमें लगभग सभी भरोसेमंद खिलाड़ी हैं। ओपनर रोहित शर्मा और क्विंटन डि कॉक जहां सीजन में अच्छा कर रहे हैं, तो मिडल ऑर्डर में सूर्यकुमार यादव, कायरन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या किसी भी गेंदबाज पर हावी होने का दम रखते हैं। सबसे रोचक बात यह है कि मुंबई के सभी बल्लेबाज हार्ड हिटर हैं, लेकिन मैच के सिचुएशन के हिसाब से भी बैटिंग कर सकते हैं।

गेंदबाजी

तेज गेंदबाजी की बात करें तो जसप्रीत बुमराह (17 विकेट), लसिथ मलिंगा (15 विकेट) और हार्दिक पांड्या (14 विकेट) गजब के फॉर्म में हैं। जहां मलिंगा आज भी विपक्षी बल्लेबाजों के लिए कड़ी चुनौती पेश कर रहे हैं, तो बुमराह को मौजूदा समय का सबसे बेहतरीन गेंदबाज माना जाता है। राहुल चहर (12 विकेट) और क्रुणाल पांड्या (11 विकेट) ने अहम मौके पर विकेट चटकाए हैं। 

You might also like