20 देशों के 65 मेहमानों ने देखा लोकतंत्र का महापर्व

नई दिल्ली –इस बार लोकतंत्र के महापर्व को देखने के लिए दुनिया के 20 देशों के 65 मेहमान भारत आए और  दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की तारीफ करते हुए सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव के कुशल प्रबंधन के लिए चुनाव आयोग की भूरि-भूरि प्रशंसा की। रूस, आस्ट्रेलिया, श्रीलंका, बांग्लादेश, भूटान, केन्या, मलेशिया, संयुक्त अरब अमीरात, म्यांमार और मैक्सिको जैसे देशों के चुनाव प्रबंधन संस्थाओं के अलावा इंटरनेशनल इंस्टीच्यूट फॉर डेमोक्रेसी एंड इलेक्ट्रॉरल असिस्टेंस के इन प्रतिनिधियों ने चुनाव आयोग के न्योते पर भारत की यात्रा की। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने इन मेहमानों का स्वागत करते हुए उन्हें बताया कि भारतीय गणतंत्र की स्थापना के एक दिन ठीक पहले गठित चुनाव आयोग ने संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत मिले अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए देश में किस तरह अब तक निष्पक्ष, मुक्त और पारदर्शी चुनाव कराए हैं। श्री अरोड़ा ने कहा चुनाव आयोग ने आलोचकों की परवाह न करते हुए अपने सिद्धांतों और मूल्यों की हमेशा रक्षा की है जो देश के दूरदृष्टा नेताओं ने दिए। श्री अरोड़ा ने लोकसभा चुनाव के संपन्न विभिन्न चरणों का जिक्र करते हुए कहा कि चुनाव कार्य को और समावेशी, नैतिक और मजबूत बनाने का काम किया जाएगा, ताकि इसमें सबकी भागीदारी हो सके। उन्होंने यह भी घोषणा की कि चुनाव प्रबंधन में खामियों को दूर करने के लिए विभिन्न चुनौतियों और श्रेष्ठ चुनावी प्रणालियों तथा दस्तावेजों का अध्ययन करने के लिए एक समिति गठित की जाएगी। उन्होंने विदेशी मेहमानों का चुनाव आयोग के विभिन्न विभागों के टीम लीडरों से भी परिचय कराया।

You might also like