2014 से नहीं बढ़ा सिविल सप्लाई रेट

शाहतलाई—बरमाणा सीमंेट फैक्टरी से ढुलाई कार्य के लिए अधिकृत ट्रक आपरेटरों ने सिविल सप्लाई का रेट न बढ़ने पर गहरा रोष प्रकट किया है। आपरेटरों ने बीडीटीएस प्रधान को मांग पत्र सौंपकर एक सप्ताह के भीतर समस्याओं के समाधान करने का आग्रह किया है। मांग पत्र के माध्यम से में बीते वर्ष हुई किराए की बढ़ोतरी का 1.36 प्रतिशत बकाया के मुताबिक एग्रीमेंट पहली अप्रैल 2019 से लागू होना था, वहीं इस एग्रीमेंट के मुताबिक मिलने वाली हाईक (वृद्धि) लागू न होने से आपरेटर खफा हैं। आपरेटर ध्यान सिंह ठाकुर, सुरेश कुमार, राकेश डोगरा, बालक राम, ज्ञान चंद, नंदलाल, शशि व दौलत राम इत्यादि ने कहा कि वर्ष 2014 के बाद सिविल सप्लाई के भाड़ा रेट न बढ़ने के कारण भी रोष प्रकट किया है। करोड़ों रुपए का टीडीएस वर्ष 2015-16 से लेकर आज तक आपरेटरों को नहीं मिला है। आपरेटरों ने कई पंजाब के सीमेंट डंप की माइलेज कम होने पर भी रोष जताया है। डंप होल्डर के साथ कोई मीटिंग न होने के कारण पंजाब के डंप पर शौचालय और पार्किंग की समस्या से ड्राइवरों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। आपरेटरों ने प्रदेश के बग्गी व उखली इत्यादि डंपिंग की डिमांड कम कर सीधा सीमेंट भेजने पर भी मांग उठाई है। इसी प्रकार 15 टन गाडि़यों में सीमेंट भरवाने से रोजाना डिमांड में भी फर्क पड़ने से आम ट्रांसपोर्टरों को नुकसान हो रहा है। आपरेटरों ने मांग पत्र में यह भी समस्या उठाई है कि प्रतिदिन फैक्टरी से एग्रीमेंट के मुताबिक डिस्पैच बराबर मिलना चाहिए। आपरेटरों ने कहा कि एक सप्ताह के भीतर उक्त समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो मजबूरन आपरेटर कोई बड़ा कदम उठाने पर मजबूर हो जाएंगे, जिसकी सारी जिम्मेदारी कार्यकारिणी की होगी।

You might also like