25 हजार मुलाजिमों के हवाले सुरक्षा का जिम्मा

 शिमला —प्रदेश में 19 मई को होने वाले मतदान के लिए 37 सुरक्षा कंपनियां हिमाचल पहुंच गई हैं। इस बार प्रदेश में कुल 47 सुरक्षा कंपनियों को जिम्मा सौंपा गया है। कुल मिलाकर लोकसभा चुनावों के लिए हिमाचल में 25 हजार सुरक्षा कर्मी मोर्चा संभालेंगे। सोमवार को 37 सुरक्षा कंपनियां हिमाचल के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंच गई हैं। शेष 10 कंपनियां हरियाणा में मतदान संपन्न होने के बाद प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंचेंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 47 सुरक्षा कंपनियां इस बार लोकसभा चुनाव में सुरक्षा में मुस्तैद रहेगी और 16 मई को संबंधित पोलिंग स्टेशन पर पहुंचेंगी। प्रदेश में अतिसंवेदनशील पोलिंग बूथ 373 हैं, जहां पर पैरामिलिट्री फोर्स के जवान मुस्तैद रहेंगे। ऐसे पोलिंग बूथ पर अर्द्धसैनिक बल के करीब पांच जवान और एक कांस्टेबल तैनात किया जाएगा। स्थिति के अनुसार सुरक्षा बल की संख्या कम व ज्यादा भी की जा सकती है। बता दें कि प्रदेश में 7730 मतदान केंद्रों बनाए गए हैं। इनमें 946 पोलिंग बूथ संवेदनीशल श्रेणी में रखे गए। संवदेनशील मतदान केंद्रों में एक एनजीओ, हैड कांस्टेबल सहित अन्यों की तैनाती की जाएगी। इसी तरह सामान्य श्रेणी में रखे गए पोलिंग बूथों में पुलिस कांस्टेबल और गृहरक्षक मोर्चा संभालेंगे। हरियाणा और उत्तराखंड के गृहरक्षक भी प्रदेश में चुनाव ड्यूटी देंगे। हिमाचल में अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होगा।  ईवीएम व वीवीपैट मशीनों को मतदान केंद्रों तक पहुंचाने के लिए  एचआरटीसी की 500 बसें तैयार की गई हैं। इन बसों में टै्रकिंग सिस्टम भी लगाए गए हैं प्रत्येक बसों में भी सुरक्षा बल तैनात किए जाएंगे।  इसके अलावा हिमाचल पुलिस ने प्रदेश सरकार ने 1400 गृहरक्षकों की भी सेवाएं मांगी हैं। ऐसे में हिमाचल प्रदेश होमगार्ड्ड के 6500 जवान भी मुस्तैद रहेंगे।

You might also like