2708 अधिकारियों को करवाया पूर्वाभ्यास

नाहन—सिरमौर जिला के चार उपमंडल मुख्यालयों पर मंगलवार को मतदान से जुड़े 2208 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को द्वितीय चरण का पूर्वाभ्यास करवाया गया, जबकि 500 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सोमवार को पांवटा उपमंडल मुख्यालय पर पूर्वाभ्यास करवाया गया था, जिसमें अधिकारियों को ईवीएम, वीवीपैट और चुनाव प्रक्रिया बारे प्रशिक्षण दिया गया। यह जानकारी देते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त सिरमौर ललित जैन ने मंगलवार को कहा कि जिला में 2708 कर्मचारियों को द्वितीय चरण का पूर्वाभ्यास करवाया गया, जिसमें राजगढ़ में 548, नाहन में 584, रेणुकाजी 592, पांवटा 500 और शिलाई में 484 पीठासीन एवं पोलिंग अधिकारियों को द्वितीय चरण का पूर्वाभ्यास करवाया गया। उपायुक्त ने कहा कि पूर्वाभ्यास के दौरान सभी पीठासीन एवं पोलिंग अधिकारियों को रेंडोमाइजेशन के माध्यम से जिला के विभिन्न विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आबंटित किए गए हैं, ताकि सभी अधिकारी तीसरे एवं अंतिम  चरण का पूर्वाभ्यास संबंधित विधानसभा क्षेत्र के सहायक निर्वाचन अधिकारी के नेतृत्व में 16 मई को करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि तीसरे पूर्वाभ्यास के दौरान सभी पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों को मतदान केंद्र आबंटित किए जाएंगे और सभी मतदान पार्टियां मतदान सामग्री के साथ 17 मई को अपने-अपने गंतव्यों पर पहुंच जाएंगी तथा 18 को मतदान दल द्वारा मतदान केंद्र स्थापित किए जाएंगे और 19 मई को प्रातः सात बजे से सायं छह बजे तक मतदान करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष लोकसभा चुनाव करवाने के  लिए प्रथम दृष्टया में 3820 अधिकारियों व कर्मचारियों का चयन किया गया था, जिसमें 1112 अधिकारियों एवं कर्मचारियों की चिकित्सा एवं अन्य घरेलू परिस्थितियों को देखते हुए इनकी ड्यूटी में छूट दी गई है और अब जिला में स्थापित 560 मतदान केंद्र के लिए 2708 अधिकारियों एवं कर्मचारियों का चयन कर दिया गया है जिसमें से 468 अधिकरियों को रिजर्व रखा गया है। उपायुक्त ने बताया कि अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि चुनाव के दौरान कोताही बरतने वाले अधिकारियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

You might also like