30 कोचिंग सेंटर्ज की चैकिंग, थमाए नोटिस

सूरत आग हादसे के बाद प्रशासन अलर्ट, संस्थानों से जल्द मांगा जवाब

पंचकूला/मोरनी – सूरत में कोचिंग सेंटर में लगी आग की वजह से बच्चों की हुई मौत के बाद 28 कोचिंग सेंटर्ज को चैक कर उन्हें नोटिस देकर पांच दिन में जवाब देने को कहा है। गत सोमवार को करीब 30 कोचिंग सेंटर्ज की चैकिंग कर उन्हें नोटिस जारी किया गया है। वहीं इस सारी व्यवस्था का देखकर प्रशासन की हड़बड़ाहट से ज्यादा कुछ ठोस नहीं लग रहा। इस हादसे के बाद जागे निगम , फायर , शिक्षा विभाग की कार्रवाई बचकाना पन तक ही सिमटी नजर आ रही है। यहां पर आगजनी को  लेकर केवल कोंचिग सेंटर्ज की ही नकेल कसने तक विभाग निगम सब सिमट गए। क्या कोई ओर ऐसे भवन पंचकूला में नही है, जहां पर भीड़ आए दिन रिकार्ड तोड़ रहती हो, वहां पर विभाग निगम की आंख नहीं गई। जिला में शापिंग मॉल, बड़े होटल तथा अन्य बहुत से सरकारी भवन कार्यालय भी ऐसे हैं, जहां पर हालात कभी भी इंतजामों के बगैर  सूरत जैसे हो सकते हैं।  अब नगर निगम ने मामले को गंभीर तौर पर लेते हुए फायर फाइटिंग सिस्टम को चैक करने के निर्देश जारी किए हैं। नगर निगम के ईओ ने फायर ऑफिसर को लेटर जारी कर कहा है कि वह तीन-चार अलग-अलग लोगों की टीमें बनाएं और उन टीमों को अलग-अलग जगहों पर चैकिंग के लिए भेजें। ईओ ने जारी किए लेटर में यह निर्देश जारी किया है कि कोचिंग सेंटर्ज के साथ-साथ शहर की बड़ी-बड़ी सोसायटीज में चैकिंग करने के लिए कहा और साथ-साथ ही जिन-जिन सोसायटीज में फायर फाइटिंग सिस्टम नहीं चल रहा है या नहीं लगा रखा है, उसे तुरंत नोटिस देकर उनके खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। वहीं शिक्षा विभाग के निदेशालय से भी लारवाह कोंचिंग सैंटरों पर सख्ती के लिए पत्र जारी हो गए। मजेदार बात है कि कोंचिंग सेंटर्ज के बाद जिले के सभी निजी स्कूल, जिनमें हजारों बच्चे पढ़ रहे हैं, उनकी भी चैकिंग करने को कहा है और चैकिंग के दौरान सभी स्कूलों की लिस्ट तैयार करने को कहा है। लिस्ट के मुताबिक जिन-जिन स्कूलों ने फायर फाइटिंग सिस्टम इंस्टॉल नहीं किया है या जिनका सिस्टम नहीं चल रहा है उन्हें नोटिस देकर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा है।

 

You might also like