35 रुपए किलो बीज पर सबसिडी

घुमारवीं—बिलासपुर जिला के लोगों की मुख्य फसल मक्की का बीज किसानों को अनुदान पर मिलेगा। प्रति एक किलो मक्की के बीज पर किसानों को 35 रुपए सबसिडी मिलेगी। कृषि विभाग ने मक्की का बीज उपलब्ध करवा दिया है। घुमारवीं में कृषि विभाग के सभी विक्रय केंद्रों पर किसान मक्की का बीज खरीद सकते हैं।  अहम बात यह है कि किसानों को मिलने वाला मक्की का यह बीज हाइब्रीड है। बिलासपुर जिला में किसान मक्की की बिजाई की तैयारी में जुट गए हैं। कृषि विभाग किसानों को मक्की के बीज पर सबसिडी दे रहा है। बिलासपुर जिला के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती है। गेहूं की फसल के बाद अब किसान मक्की की बिजाई की तैयारी कर रहे हैं। घुमारवीं विकास खंड के अंतर्गत लगभग नौ हजार हेक्टेयर भूमि पर मक्की की बिजाई होती है। घुमारवीं विकास खंड के अंतर्गत आने वाले किसानों को कृषि विभाग ने 400 क्विंटल मक्की का बीज मंगवाया है। किसानों को यह बीज पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर मिलेगा। विभागीय अधिकारियों की मानें तो कृषि विभाग के विक्रय केंद्रों पर सिंगल क्रॉस तथा डबल क्रॉस मक्की का बीज उपलब्ध है। किसानों को यह बीज पांच किलो की पैकिंग में मिल रहा है।  किसानों को 30 रुपए प्रति किलो सबसिडी पर मक्की का बीज दिया जा रहा है। किसानों को डबल क्रास मक्की के बीज की पांच किलो की थैली 260 रुपए तथा सिंगल क्रॉस मक्की के बीज की पांच किलो की थैली 340 रुपए में बिक रही है। घुमारवीं में किसानों के लिए कृषि विक्रय केंद्रों में मक्की का बीज दिया जा रहा है। इससे किसान विक्रय केंद्रों में मक्की का बीज खरीद सकते हैं। बताते चलें कि खेतीबाड़ी कई किसानों की आजीविका का साधन है। मक्की बिलासपुर जिला के किसानों की मुख्य फसल है। इसके लिए कृषि विभाग ने किसानों के लिए विक्रय केंद्रों पर मक्की का बीज उपलब्ध करवा दिया है। किसानों को मक्की के बीज पर 35 रुपए प्रति किलो सबसिडी दी जा रही है। बिलासपुर जिला के घुमारवीं कृषि विभाग ने किसानों के लिए 400 क्विंटल मक्की का बीज मंगवाया है। इन विक्रय केंद्रों पर मिलने वाला किसानों को बीज पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर मिलेगा। वहीं, एसएमएस, घुमारवीं रवि शर्मा ने कहा कि कृषि विभाग किसानों को मक्की के बीज पर 35 रुपएप्रति किलो सबसिडी दे रहा है। जबकि चरी पर 24.25 रुपए तथा बाजरा पर  39 रुपए प्रति किलो सबसिडी मिल रही है। कृषि विभाग के सभी विक्रय केंद्रों पर बीज उपलब्ध है। किसान कृषि विभाग के विक्रय केंद्रों पर बीज खरीदकर अनुदान का लाभ उठा सकता है।

You might also like