50 साल में पुल नहीं बना सके, वे क्या करेंगे विकास

रामस्वरूप शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशी पर कसे तंज; बोले, चोरी-छिपे कांग्रेस के प्रचार में जुटे अनिल शर्मा

कुल्लू —पूर्व ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा में दम है तो वह सामने आकर कांग्रेस प्रत्याशी का प्रचार करें चोरी-छिपे कांग्रेस का प्रचार कब तक करेंगे। भाजपा की आंखों में धूल झोंककर कांग्रेस पार्टी के लिए अनिल शर्मा चोरी-छिपे तथा रात के अंधेरे में प्रचार में जुटे हुए हंैं। मंडी संसदीय क्षेत्र के बल्ह और सदर विस क्षेत्र के झोर, जखेहडू, दसेहड़ा, गुरुकोठा, पनौलू, लोहारड़ी, निचला लोट, सेहली, बग्गी तुंगल, डवाहण, भरगांव, खलाणू, लागधार, सरवाड़ी, धन्यारा और मंडी शहर के खलियार में नुक्कड़ जनसभाओं को संबोधित करते हुए भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा ने ये शब्द कहे। उन्होंने कहा कि सदर विधानसभा क्षेत्र व दं्रग विधानसभा क्षेत्र के बीच बहने वाली ब्यास  में 50 साल से एक फुटब्रिज तक नहीं लगा तथा आज भी विक्टोरिया ब्रिज से कून कातर ब्रिज तक 30 किलोमीटर का दायरा पुल से महरूम है। उन्होंने कहा कि जब वह सांसद बने तो कोट तुंगल से नीचे ब्यास नदी पर उन्हांेने झूले के लिए सांसद निधि से धन दिया। सदर क्षेत्र के ग्राम पंचायत तरनोह-सदोह के बीच ब्यास नदी पर पुल की डीपीआर बनाने के लिए उन्होंने विभाग को निर्देश दिया है। सदर क्षेत्र में पंडित सुखराम ने हकीकत मंे विकास करवाया होता तो आज उन्हें मंच से रोने का ड्रामा करने की आवश्यकता नहीं थी। उन्होंनेे कहा कि तुंगल क्षेत्र की आज क्या हालत है, यह अनिल शर्मा को दिखाई नहीं देती तथा ड्रामेबाजी करके अब अपने बेटे के लिए चोरी-छिपे प्रचार में जुटे हुए हैं। उनमें दम है तो वह सामने आकर अपने बेटे के लिए प्रचार करें। भाजपा के लिए राष्ट्रवाद सर्वोपरि है जबकि सुखराम व उनके परिवार के लिए केवल परिवारवाद सर्वोपरि है। इस अवसर पर बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, मिल्क फेडरेशन के चेयरमैन निहाल शर्मा, पूर्व विधायक डीडी ठाकुर, युवा मोर्चा अध्यक्ष भुवनेश ठाकुर, सदर मंडल अध्यक्ष मनीष कपूर सहित अन्य भी उपस्थित थे।

सांसद नहीं, एमएलए बन कर करूंगा सेवा

भाजपा प्रत्याशी राम स्वरूप शर्मा ने सदर क्षेत्र के लोगों को विश्वास दिलाया कि वे जिस तरह पांच साल उनके बीच में रहे हैं, वैसे ही आगे भी रहेंगे। सदर क्षेत्र में बनने वाली थाना-पिनौला विद्युत परियोजना का रास्ता प्रशस्त करवाएंगे और युवाओं के लिए रोजगार के द्वार खोलेंगे। वह सदर में सांसद बनकर नहीं, बल्कि एमएलए बनकर लोगों  की समस्याओं का समाधान करेंगे।

You might also like