81 प्लेयर करेंगे वर्ल्डकप डेब्यू

10 टीमों के 150 खिलाड़ी दिखाएंगे दमखम, आठ ने खेले दस से कम वनडे

नई दिल्ली –इंग्लैंड की ज़मीन पर 30 मई से होने जा रहे 12वें आईसीसी एकदिवसीय विश्वकप टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही 10 टीमों में 81 खिलाड़ी ऐसे होंगे, जो इस मेगा टूर्नामेंट में पदार्पण करने का अपना सपना पूरा करेंगे। विश्वकप में 10 टीमों के कुल 150 खिलाड़ी उतरेंगे, जिसमें 81 खिलाडि़यों का यह पहला विश्वकप होगा। इनमें एक वनडे खेलने वाले वेस्टइंडीज़ के निकोलस पूरन से लेकर कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो इस विश्वकप में पहली बार उतरेंगे। इन 81 खिलाडि़यों में आठ खिलाड़ी ऐसे भी हैं, जिन्होंने 10 से कम वनडे खेले हैं, लेकिन विश्वकप में उतरने जा रहे हैं। इस मेगा टूर्नामेंट के लिए सभी 10 देशों ने अपनी 15 सदस्यीय टीमों की घोषणा कर दी है और टूर्नामेंट का पहला मुकाबला 30 मई को मेजबान इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच ओवल मैदान पर होगा। इस महा संग्राम का आखिरी मुकाबला ऐतिहासिक लार्ड्स मैदान पर 14 जुलाई को खेला जाएगा।

भारत

विश्व की दूसरे नंबर की टीम भारत में सात खिलाड़ी पहली बार विश्वकप खेलेंगे। हालांकि दिनेश कार्तिक 2007 विश्वकप टीम का हिस्सा थे, लेकिन तब उन्होंने एक भी मैच नहीं खेला था। विश्वकप के नवोदित भारतीय खिलाडि़यों में विजय शंकर, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, लोकेश राहुल, कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह और युजवेंद्र चहल शामिल हैं। भारत का पहला मुकाबला पांच जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होगा।

आस्ट्रेलिया

गत चैंपियन आस्ट्रेलियाई टीम में नौ खिलाड़ी ऐसे हैं, जो विश्वकप में अपना पदार्पण करेंगे। आस्ट्रेलिया का पहला मुकाबला पहली जून को अफगानिस्तान से होना है। आस्ट्रेलियाई टीम के नौ खिलाडि़यों में उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, मार्कस स्टोयनिस, जाए रिचर्डसन, एलेक्स कैरी, नाथन कोल्टर नाइल, जेसन बेहरेनडोर्फ, एडम जंपा और नाथन लियोन शामिल हैं।

पाकिस्तान

पाकिस्तान का अभियान 31 मई को वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से शुरू होगा। पाकिस्तानी टीम में 10 खिलाड़ी अपना पदार्पण करेंगे जिनमें फखर जमान, इमाम उल हक, बाबर आज़म, आबिद अली, शादाब खान, फहीम अशरफ, इमाद वसीम, शाहीन आफरीदी, हसन अली और मोहम्मद हसनेन शामिल हैं। टीम के एक सदस्य जुनैद खान 2015 विश्वकप टीम में शामिल थे, लेकिन चोटिल होने के कारण विश्वकप शुरू होने से पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे।

दक्षिण अफ्रीका

चोकर्स का ठप्पा अपने नाम रखने वाली दक्षिण अफ्रीका की टीम में सात खिलाड़ी पहली बार विश्वकप खेलेंगे। इनमें एडन मारक्रम, रैसी वान डेर डुसेन, आंदिले फेहलुकवायो, ड्वेन प्रिटोरियस, लुंगी नगीडी, क्रिस मौरिस और तबरेज़ शम्सी शामिल हैं। दक्षिण अफ्रीका की विश्वकप टीम में पहले एनरिच नोर्त्जे को जगह मिली थी लेकिन उनके चोटिल होने के बाद मौरिस को उनकी जगह टीम में शामिल किया गया है। नोर्त्जे का यह पहला विश्वकप होता, लेकिन उनके बाहर होने के बाद टीम में लाए गए मौरिस का भी यह पहला विश्वकप होगा। परिवर्तन के दौर से गुजर रही पूर्व चैंपियन टीम श्रीलंका में सात खिलाड़ी पहली बार विश्वकप खेलने उतरेंगे। श्रीलंकाई टीम में अविष्का फर्नांडो, धनंजय डीसिल्वा, इसुरू उदाना, मिलिंडा सिरिवर्धने, कुशल मेंडिस, जेफरी वेंडरसे और नुवान प्रदीप अपना पदार्पण करेंगे। श्रीलंका का पहला मुकाबला पहली जून को न्यूजीलैंड से होगा।

बांग्लादेश

उलटफेर करने में माहिर जानी जा रही बांग्लादेश की टीम में सात खिलाड़ी मोहम्मद सैफद्दीन, मुसादक हुसैन, मेहदी हसन, लिट्टन दास, मोहम्मद मिथुन, मुस्ताफिजुर रहमान और अबु जाएद इस विश्वकप में अपना पदार्पण करेंगे।

इंग्लैंड

खिताब के प्रबल दावेदार और विश्व की नंबर एक वनडे टीम मेजबान इंग्लैंड में आठ खिलाड़ी पहली बार विश्वकप खेलने उतरेंगे। इन आठ खिलाडि़यों में जेसन रॉय, जो डेन्ली, टॉम करेन, डेविड विली, जॉनी बेयरस्टो, आदिल राशिद, लियाम प्लंकेट और मार्क वुड शामिल हैं। इंग्लैंड का पहला मुकाबला 30 मई को दक्षिण अफ्रीका से होगा।

न्यूजीलैंड

 पिछले विश्वकप की उपविजेता न्यूजीलैंड की टीम का पहला मुकाबला श्रीलंका से पहली जून को होना है। कीवी टीम में आठ खिलाड़ी कॉलिन डी ग्रैंडहोम, कॉलिन मुनरो, जेम्स नीशम, मिशेल सेंटनर, टॉम ब्लंडेल, हेनरी निकोल्स, लॉकी फग्यूर्सन और ईश सोढी विश्वकप में अपना पदार्पण करेंगे।

वेस्टइंडीज

दो बार की पूर्व चैंपियन वेस्टइंडीज की टीम अपना पहला मुकाबला 31 मई को पाकिस्तान से खेलेगी। कैरेबियाई टीम में नौ खिलाड़ी विश्वकप में पदार्पण करेंगे। इनमें एविन लुईस, शिमरोन हेटमायर, एश्ले नर्स, फाबियन एलेन, कार्लाेस ब्रेथवेट, निकोलस पूरन, शाई होप, ओशन थॉमस और शैनन गैब्रिएल शामिल हैं।

बेहतरीन प्रदर्शन करेगी टीम इंडिया

न्यूपोर्ट। भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे मानते हैं कि 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने वाले वर्ल्डकप में भारतीय टीम बेहतरीन प्रदर्शन करेगी। रहाणे को विश्वकप के लिए 15 सदस्यीय टीम में नहीं चुना गया था और फिलहाल, वह इंग्लैंड में ही काउंटी क्रिकेट खेल रहे हैं। रहाणे ने कहा कि निश्चितरूप से मैं भारतीय टीम का समर्थन करूंगा। विश्वकप में भाग लेने वाली हमारी टीम मजबूत है, इसलिए मुझे यकीन है कि हम दमदार प्रदर्शन करेंगे। दो बार की चैंपियन भारतीय टीम टूर्नामेंट का पहला मैच में पांच जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलेगी।

You might also like