अजनाला के रशपाल बने मल्ल सम्राट

बाबा बल्ले दा पीर लाड़थ छिंज मेले में ईरान के मुस्तफा को बड़ी माली में दी पटकनी

राजा का तालाब –बाबा बल्ले दा पीर लाड़थ का ऐतिहासिक वार्षिक छिंज मेला का सोमवार को समापन हो गया। छिंज में नामी अखाड़ों के कई पहलवानों ने अपनी बेहतरीन कुश्तियों से दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। इससे पहले दोपहर एक बजे दंगल में प्रथम स्थान हासिल करके मल्ल सम्राट व द्वितीय, तृतीय माली के पहलवानों को दिए जाने वाले सामान की बाबा बल्ले दा पीर के प्रांगण में पूजा-अर्चना करके प्रबंधक कमेटी ने बाबा को चढ़ाए जाने वाले झंडे की रस्म अदा की। इस बीच श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी लाइनें बाबा के चरणों में अपनी नई फसल को चढ़ाने के लिए घंटों अपनी बारी का इंतजार करती रही। इस दौरान दंगल में प्रथम माली की पच्चीस हजार व बल्टोही के लिए कुश्ती ख्याति प्राप्त पहलवान ईरान के मुस्तफा की कुश्ती रशपाल  अजनाला के बीच करवाई गई। एक घंटे से ज्यादा समय के उपरांत कड़े मुकाबले के बाद रशपाल अजनाला ने ईरान के मुस्तफा को चारों खाने चित करके मल्ल सम्राट के रूप में बड़ी माली पर अपना कब्जा जमाया। वहीं इक्कीस हजार छोटी माली की कुश्ती भूरा पहलवान पठानकोट व रोशन पट्टी पंजाब के बीच करवाई गई। जिसमें भूरा पठानकोट ने रोशन पहलवान पट्टी पंजाब को चारों खाने चित करके छोटी माली पर अपना कब्जा किया। इस दौरान रैफरी की भूमिका में मनोज शर्मा ने दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। इस बीच मुख्य अतिथि कांग्रेस प्रदेश सचिव चेतन चंबियाल, नरिंद्र मनकोटिया, डा. महिंद्र सिंह, कमल किशोर, संजीव, मनोज, देशराज, सुशील, कुलतार चंद, किशोरी लाल, कोच मुनीश, रजनीश व कमेटी के समस्त सदस्यों ने हिस्सा लिया। इस दौरान  प्रबंधक कमेटी ने राजा का तालाब लाड़थ की हिमाचल केसरी व राज्य स्तर पर स्वर्ण पदक जीतने वाली व राजा का तालाब की ही राज्य स्तर की स्वर्ण पदक विजेता रीना पहलवान को नकद इनाम देकर सम्मानित किया।

 

You might also like