अधिकारियों को किया जा रहा प्रताडि़त

शिमला –इंटक ने हिमाचल परिवहन मजदूर संघ पर अधिकारियों को प्रताडि़त करने का आरोप जड़ा है। महासंघ के प्रदेश प्रधान उमेश शर्मा का आरोप है कि ऐसा करके उक्त पदाधिकारी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की छवि खराब कर रहे हैं। उनका आरोप है कि परिवहन मजदूर संघ के पदाधिकरियों द्वारा गत दिनों चंबा में मीटिंग के दौरान इंटक इकाई के महामंत्री से दुर्व्यवहार किया गया, पठानकोट में बस अड्डा पर कार्य कर रहे इकाई के महासचिव को वहां से हटाने का दबाव बनाया जा रहा है, केलांग, सुंदरनगर, मंडी, कुल्लू, सरकाघाट, बिलासपुर सहित निगम के अन्य डिपो में भी परिवहन मजदूर संघ के कार्यकर्ता बिना किसी कार्य के बस अड्डों पर लगाए गए हैं, जो कर्मचारियों को डराने-धमकाने का ही कार्य कर रहे हैं। गत दिनों चंबा में इंटक से जुड़े वरिष्ठ संवाहक को चैकिंग पर लगाया, तो मजदूर संघ के पदाधिकारियों ने उसको चैकिंग से हटवा दिया, जबकि मंडी में जूनियर संवाहकों को प्रबंधन द्वारा चैकिंग पर लगाया गया है। इंटक की प्रदेश कार्यकारिणी ने मजदूर संघ के पदाधिकरियों को सलाह दी है, वे निगम के कर्मचरियों को डराने-धमकाने के बजाय लंबित पड़े चालकों-परिचालकों के अधिक समय भत्ते, सेवानिवृत्त कर्मचरियों के देय भत्तों, पीस मील की नियमितीकरण, अनुबंध कर्मचरियों के लंबित भत्तों को प्रदान करने के लिए अपना ध्यान लगाएं। महासंघ इंटक ने मुख्यमंत्री और परिवहन मंत्री से ऐसे मामलों में हस्तक्षेप करने की मांग करता है।

You might also like