अपडेट नहीं होंगे श्याओमी के दस फोन 

रेडमी यूजर्स के लिए बुरी खबर, नहीं मिलेगा लेटेस्ट एमआईयूआई अपग्रेड

श्याओमी का एमआईयूआई बीटा प्रोग्राम इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए बुरी खबर है। कंपनी ने हाल में ऐलान किया था कि दस पुराने जेनरेशन वाले रेडमी सीरीज के स्मार्टफोन्स को लेटेस्ट एमआईयूआई अपग्रेड नहीं मिलेगा। इसके कुछ दिन बाद ही कंपनी ने अब यह कन्फर्म किया है कि ग्लोबल एमआईयूआई बीटा प्रोग्राम अगले महीने से एक्टिव नहीं रहेंगे। श्याओमी ने एक ब्लॉग पोस्ट कर कहा, अपने ज्यादातर यूजर्स की डिमांड को पूरा करने के लिए और जल्दी-जल्दी स्टेबल वर्जन अपडेट देने के लिए हमारे इंजीनियर्स ने पहली जुलाई, 2019 से सभी डिवाइसेज के लिए एमआईयूआई बीटा ग्लोबल वर्जन को अब रिलीज न करने का फैसला किया है। इसका मतलब यह हुआ है जिन यूजर्स को पब्लिक रिलीज से पहले किसी नए फीचर या अपडेट को एक्सपीरियंस करने का मौका मिलता था, वह अब बंद हो जाएगा। एमआईयूआई श्याओमी के स्मार्टफोन्स की खासियत था। इसे बंद करने की जो मुख्य वजह बताई जा रही है, वह यह है कि समय के साथ बीटा यूजर्स की संख्या काफी बढ़ती जा रही थी। इसके साथ ही अपडेट के बग्स के बारे में भी डिवेलपर्स को कोई रिपोर्ट नहीं दी जा रही थी। ज्यादातर यूजर्स इसे स्टोबल वर्जन के जैसे ही इस्तेमाल कर रहे थे और उन्होंने कभी भी किसी बग के बारे में रिपोर्ट नहीं किया था। इसके अलावा इतनी बड़ी संख्या में बीटा यूज होने की हालत में कंपनी को एमआईयूआई के फाइनल वर्जन और बीटा वर्जन के साथ रन होने का भी डर था। रेडमी के जिन दस पुराने फोन को एमआईयूआई अपग्रेड या किसी प्रकार का ग्लोबल बीटा अपडेट नहीं मिलेगा, उनमें श्याओमी रेडमी 6, श्याओमी रेडमी 6ए, श्याओमी रेडमी वाई2, श्याओमी रेडमी 4, श्याओमी रेडमी 4ए, श्याओमी रेडमी नोट 4, श्याओमी रेडमी 3एस, श्याओमी रेडमी नोट 3 और श्याओमी रेडमी 3एक्स शामिल हैं। एमआईयूआई 11 अपडेट के न मिलने से इन फोन्स के यूजर्स को वह फीचर नहीं मिलेगा, जिससे फोन पर आने वाले विज्ञापनों को रोका जा सकता है। हालांकि, श्याओमी इन यूजर्स को एंड्रायड सिक्योरिटी पैच देना जारी रखेगा।

 

You might also like