अब उपमंडल स्तर पर बनेंगे वेपन लाइसेंस 

धर्मशाला—शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए अब कांगड़ा जिला के लोगों को उपमंडल स्तर पर भी सुविधा प्रदान की जाएगी। इतना ही नहीं, फसल सुरक्षा और आत्मरक्षा की भी उपमंडल स्तर पर सभी औपचारिक्ताएं पूरी हो जाएंगी। इसके चलते अब लोगों को जिला मुख्यालय के चक्कर लगाने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ेगा। गौरतलब है कि अब तक लोगों को मुख्यालय में ही शस्त्र लाइसेंस रेन्यू करवाने के लिए आना पड़ता था। जिला कांगड़ा की 15 लाख से अधिक आबादी को धर्मशाला के चक्कर लगाने के बजाय अपने उपमंडल में महत्त्वपूर्ण कार्य की सुविधा मिलने से आर्थिक बोझ सहित मानसिक परेशानियां भी कम हो जाएंगी। प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कांगड़ा कई किलोमीटर की दूरी तक फैला हुआ है, जिसमें लोगों को धर्मशाला मुख्यालय पहुंचने के लिए 100 से अधिक किलोमीटर तक का भी सफर करना पड़ता था।  उपायुक्त कांगड़ी संदीप कुमार ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर पहली जून से नूरपुर, देहरा, पालमपुर उपमंडल स्तर पर यह सुविधा शुरू होगी। इसके पश्चात अन्य उपमंडलों में 15 जून के बाद शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण की सुविधा दी जाएगी, ताकि लोगों को जिला मुख्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ें। उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने बताया कि फसल सुरक्षा के लिए भी उपमंडल स्तर पर लाइसेंस बनाने की औपचारिकताएं पूर्ण करने की सुविधा दी जाएगी। इसके साथ ही आत्मसुरक्षा के लिए उपमंडल स्तर पर ही लाइसेंस की कागजी औपचारिकताएं एसडीएम के माध्यम से पूर्ण करने के पश्चात जिला स्तर से अनुमति प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को आर्म्स लाइसेंस इन्फार्मेशन सिस्टम सॉफ्टवेयर के बारे में भी विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया है, ताकि लोगों को बेहतर सुविधा मिल सके।  उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी हिमकेयर स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत पात्र लोगों के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है तथा पात्र लोग 20 जून तक पंजीकरण करवा सकते है।

You might also like