अब पंजीकरण के लिए शिमला के चक्कर नहीं

सोलन – प्रदेश भर के आयुर्वेदिक व यूनानी चिकित्सकों सहित फार्मासिस्टों को आयुर्वेद बोर्ड से अपना पंजीकरण करवाने के लिए शिमला के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। विभाग ने पंजीकरण को ऑनलाइन कर दिया है और यह सुविधा मार्च माह से आरंभ भी हो गई है, जिससे हर आवेदक को घर बैठे सुविधा प्राप्त हो रही है। बता दें कि इससे पूर्व आयुर्वेदिक विभाग के अंतर्गत पंजीकरण करवाने के लिए आयुर्वेदिक, यूनानी चिकित्सकों सहित फार्मासिस्टों को शिमला के चक्कर काटने पड़ते थे। इसको देखते हुए विभाग द्वारा पंजीकरण की सुविधा मार्च माह से ऑनलाइन कर दी गई है। इतना ही नहीं, औषधियों की गुणवत्ता के लिए ड्रग इंस्पेक्टर नियुक्त किए गए हैं। शनिवार को सोलन में हिमाचल आयुर्वेदिक मेडिकल ऑफिसर एसोसिएशन सोलन की बैठक हुई। इस दौरान ओएसडी आयुर्वेद हिमाचल प्रदेश डा. केके शर्मा ने आयुर्वेदिक डाक्टर्स से कहा कि आयुर्वेद विभाग हिमाचल प्रदेश दिन-प्रतिदिन नई ऊंचाइयां छू रहा है।

You might also like