अब बिना बारिश लहलहाएंगी फसलें

वन विभाग की एनओसी मिली; जल्द पूरा होगा प्रोजेक्ट, पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर का ड्रीम जल्द होगा पूरा

बंगाणा -खेती के लिए बारिश पर निर्भर कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र के चार पंचायतों के लोग अब बारिश पर निर्भर नहीं रहेंगे। कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र के तहत समूर में समूर खड्ड पर बने करोड़ों के वर्षा जल संग्रहण चैकडैम प्रोजेक्ट से इन लोगों की भूमि में भी अब बिना बारिश के भी खूब फसलें लहराएंगी। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर का यह ड्रीम प्रोजेक्ट जल्द ही पूरा होगा। पिछले करीब छह साल से वन विभाग की एनओसी नहीं मिलने के चलते इस प्रोजेक्ट का कार्य बंद पड़ा था, लेकिन अब वन विभाग की एनओसी आईपीएच विभाग को मिल गई है। इसके चलते अब इस प्रोजेक्ट के जल्द पूरा होने की उम्मीद है। कुटलैड़ विधानसभा क्षेत्र के समूर के लिए पूर्व भाजपा सरकार के कार्यकाल में करीब आठ साल पहले वर्षा जल संग्रहण चैकडैम प्रोजेक्ट स्वीकृत किया गया था, लेकिन प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होने के बाद इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। करीब छह साल पहले इस कार्य को बंद कर दिया गया था। इसके चलते यह चैकडैम मात्र शोपीस ही बना हुआ था। बताया जा रहा है कि वन विभाग की ओर से इस चैकडैम से पाइप लाइन बिछाने के कार्य को लेकर आब्जेक्शन लगाया गया था। वन विभाग की एनओसी नहीं मिलने के चलते यह प्रोजेक्ट अधूरा ही रह गया, लेकिन एक बार फिर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर की ओर से भाजपा सरकार बनने पर इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए प्रयास किए गए। इसके चलते अब सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को इस प्रोजेक्ट के तहत चार पंचायत के कुछ गांव में पाइप लाइन बिछाने के लिए वन विभाग की एनओसी मिल गई है। वहीं, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से आगामी प्रक्रिया के तहत तमाम औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं, ताकि जल्द से आगामी प्रक्रिया शुरू की जा सके। बता दें कि समूर में समूर खड्ड पर बने वर्षा जल संग्रहण चैकडैम का 2032 हेक्टेयर कैचमेंट एरिया है। वहीं, इसका मुख्य नाला साढ़े 12 किलोमीटर का है। इस चैकडैम के माध्यम से बंगाणा की 234 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। इसकी स्टोरेज क्षमता 0.770 मिलियन क्यूविक मीटर है। वहीं, अब ग्राम पंचायत समूरकलां, लमलैहड़ी, मोमन्यार, टीहरा के करीब एक दर्जन से अधिक गांव लाभाविंत होंगे। इन पंचायतों के गांव को सिंचाई का पानी मुहैया करवाने के लिए 5430 मीटर पाइप लाइन बिछाई जाएगी। तीन नंबर टैंक 78 आउटलेट होगा। करीब 10 किलोमीटर तक इस चैकडैम का पानी पहुंचेंगा। प्रोजेक्ट को अब सैद्धांतिक स्वीकृति मिल गई है।    

 

You might also like