आईपीएफटी ने त्रिपुरा में गठबंधन खत्म करने की खबरों को नकारा

 

आईपीएफटी ने त्रिपुरा में गठबंधन खत्म करने की खबरों को नकारा

त्रिपुरा की इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ़ त्रिपुरा (आईपीएफटी) पार्टी ने राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठबंधन खत्म करने वाली खबरों को खारिज किया है। आईपीएफटी ने इससे पहले राज्य में अपने दम पर लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया था जिसके चलते कयास लगाए जा रहे थे की दोनों पार्टियों के बीच अब गठबंधन खत्म हो सकता है। आईपीएफटी के अध्यक्ष तथा राज्य के राजस्व मंत्री एन सी देवबरम और आदिवासी कल्याण मंत्री मेवाड़ कुमार जमातिया ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उनकी पार्टी पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (नेडा) के साथ अपना गठबंधन बरकरार रखेगी। दोनों नेताओं ने कहा कि आईपीएफटी और भाजपा की अपनी-अपनी विचारधारा है लेकिन राज्य में दोनों पार्टियों का मुख्य उद्देश्य विकास है। भाजपा और आईपीएफटी ने पिछले विधानसभा चुनावों में पार्टी के हितों के खिलाफ न जाने की शर्त पर गठबंधन किया था। उन्होंने आईटीएफटी के विधायकों के भाजपा में शामिल होने की खबरों को अफवाह करार देते हुए कि यह इन अफवाहों को कोई वजूद नहीं है तथा यह बातें पार्टी को कमजोर करने के लिए फैलाई जा रही हैं जिनका कोई असर नहीं होगा। 

 

You might also like