आखिरकार सरकार ने भी माना बेरोजगारी दर 45 साल में सबसे ज्यादा

नई दिल्ली। मोदी सरकार की ताजपोशी के अगले ही दिन शुक्रवार को श्रम मंत्रालय ने बेरोजगारी के आंकड़े जारी कर दिए। चुनाव प्रचार के दौरान विपक्ष के दावों को खारिज करती रही सरकार ने भी आखिरकार यह मान लिया कि बेरोजगारी की दर 45 साल के सर्वोच्च स्तर पर है। सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान देश में बेरोजगारी की दर 6.1 फीसदी रही। आंकड़ों के अनुसार महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में बेरोजगारी की दर अधिक है। पुरुषों की बेरोजगारी दर 6.2, जबकि महिलाओं की बेरोजगारी दर 5.7 फीसदी है। लोग रोजगार की तलाश में गांवों से शहरों की ओर पलायन करते हैं, लेकिन ताजा आंकड़े देखें तो शहरों की हालत गांवों से भी खराब है। शहरों में बेरोजगारी की दर गांवों की तुलना में 2.5 फीसदी अधिक है।

You might also like