आज विंडीज-इंग्लैंड में कांटे की टक्कर

वर्ल्डकप में कैरेबियन टीम पर दबदबा बरकरार रखने उतरेंगे अंग्रेज, प्रसारण शाम तीन बजे से

साउथंपटन – पिछले कुछ वर्षों में इंग्लैंड के लिए वेस्टइंडीज सबसे आसान प्रतिद्वंद्वी रहा है, लेकिन शुक्रवार को विश्वकप मैच में जब ये दोनों टीमें आमने सामने होंगी, तो इयोन मोर्गन की अगवाई वाली टीम किसी भी तरह की ढिलाई से बचना चाहेगी, क्योंकि कैरेबियाई दल कुछ पल में मैच का पासा पलटने में सक्षम है। इंग्लैंड को पाकिस्तान से हार के बाद खुद के अंदर झांकने का मौका मिला और उसने बांग्लादेश के खिलाफ हर विभाग में अच्छा प्रदर्शन करके बड़ी जीत दर्ज की। दूसरी तरफ से वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान को आसानी से शिकस्त दी, लेकिन आस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतर स्थिति में होने के बावजूद उसे हार मिली। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसका मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था। वेस्टइंडीज का सामना अब उस इंग्लैंड से है, जिससे वह पिछले कुछ वर्षों से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया है। इन दोनों टीमों के बीच जो 101 वनडे खेले गए हैं, उनमें 51 में इंग्लैंड और 44 में वेस्टइंडीज ने जीत दर्ज की है, लेकिन पिछले दस वर्षों में खेले गए 19 मैचों में कैरेबियाई टीम केवल तीन में जीत हासिल कर पाई है। इंग्लैंड ने इनमें से 14 मैच में जीत दर्ज की है और वह अपना यह दबदबा बरकरार रखने की कोशिश करेगा। इंग्लैंड का मजबूत पक्ष उसकी बल्लेबाजी है। उसके शीर्ष सात बल्लेबाज अकेले दम पर मैच का पासा पलटने का माद्दा रखते हैं।

वेस्टइंडीज – जेसन होल्डर (कप्तान), फैबियन एलेन, डेरेन ब्रावो, शैनन गेब्रियल, शिमरोन हेटमायर, एविन लुईस, निकोलस पूरण, आंद्रे रसेल, कार्लोस ब्रैथवेट, शेल्डर कॉटरेल, क्रिस गेल, शाई होप, एशले नर्स, केमर रोच, ओसाने थॉमस में से

इंग्लैंड – इयोन मोर्गन (कप्तान), मोइन अली, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो, जोस बटलर (विकेटकीपर), टॉम कुरन, लियाम डॉसन, लियाम प्लंकेट, आदिल राशिद, जो रूट, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, जेम्स विंस, क्रिस वोक्स, मार्क वुड

You might also like