आज से दिल्ली में ‘शाह’ की पाठशाला

मीटिंग में प्रवेश करते ही राज्य अध्यक्षों को थमाई जाएगी एजेंडे की कॉपी

शिमला – लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह की पाठशाला चलेगी। शाह ने सभी राज्य अध्यक्षों के साथ दो दिनों तक दिल्ली में मंथन करने का निर्णय लिया है, जो गुरुवार और शुक्रवार को चलेगा। इसके लिए अमित शाह ने सभी राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों को बुलाया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती बैठक में लोकसभा चुनाव तथा इससे पहले की सभी गतिविधियों की रिपोर्ट सौंपेंगे। बताया जा रहा है कि बैठक के लिए अभी एजेंडे का खुलासा नहीं हुआ है। बैठक शुरू होते ही एजेंडे की कॉपी सभी प्रदेश अध्यक्षों को सौंप दी जाएगी। भाजपा सूत्रों से के मुताबिक बैठक में संगठनात्मक चुनावों की रूपरेखा भी तैयार की जाएगी। इसके साथ-साथ सभी राज्यों में संगठनात्मक फेरबदल का मसौदा भी तैयार होना है। बताया गया कि संगठनात्मक चुनावों की रूपरेखा तैयार होने के साथ ही प्रदेश भाजपा में संगठनात्मक बदलाव फेरबदल हो सकता है। अब तक चार चुनावों में पार्टी की अध्यक्षता कर चुके सतपाल सत्ती का कार्यकाल पूरा हो चुका है। इसे देखते हुए पार्टी में अब प्रदश अध्यक्ष पद के लिए जंग भी शुरू हो गई है। हालांकि भाजपा सर्वसम्मति से प्रदेश अध्यक्ष का चयन करेगी, लेकिन अब तक 10 नेताओं के नामों पर चर्चा चल रही है। भाजपा प्रदेश प्रभारी रणधीर शर्मा, त्रिलोक जम्वाल, राकेश जम्वाल, चंद्रमोहन ठाकुर, राम सिंह, कृपाल परमार, विपिन परमार, सांसद रामस्वरूप शर्मा सहित 10 नेता प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं। उधर, भाजपा फिर से सदस्यता अभियान शुरू करेगी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस महीने के दूसरे सप्ताह से सदस्यता अभियान शुरू होगा।

उपचुनाव तक रहेंगे सत्ती!

प्रदेश में उपचुनाव तक सतपाल सत्ती अध्यक्ष पद पर बरकरार रह सकते हैं। हालांकि दिल्ली में दो दिन तक होने वाली बैठकों में पूरा मसौदा तैयार होना है। उसके बाद ही प्रदेश अध्यक्ष मसले पर फैसला हो सकता है। धर्मशाला विधानसभा सीट से मंत्री किशन कपूर और पच्छाद से सुरेश कश्यप लोकसभा चुनाव जीतने के बाद अब इन क्षेत्रों में आगामी छह महीने के भीतर उपचुनाव होने हैं।

You might also like