आतंकवाद के खिलाफ सुनिश्चित हो ‘जीरो टॉलरेंस’ नीति: शाह

श्रीनगर – केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आतंकवाद और आतंकवादियों के खिलाफ सरकार की ‘जीरो टॉलरेंस’ नीति पर बल देते हुए सुरक्षा एजेंसियों को इसके वित्तपोषण को रोकने के लिए कठोर कदम उठाने के लिए कहा है। श्री शाह ने गुरुवार को श्रीनगर में सुरक्षा मामलों को लेकर बुलाई गई एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता के दौरान कहा कि कानून का राज हर कीमत पर लागू किया जाना चाहिए। श्री शाह गृह मंत्री बनने के बाद पहली बार दो दिन के जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं। जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव बी वी आर सुब्रह्मण्यम और गृह मंत्रालय में राज्य के अतिरिक्त सचिव गणेश कुमार ने यहां संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा, “ जम्मू-कश्मीर के अपने पहले दौरे के दौरान केन्द्रीय गृह मंत्री ने राज्य की सुरक्षा स्थिति का जायजा लेने के लिए अधिकारियों के साथ कई बैठकें कीं। इसके अलावा उन्होंने अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर हो रही तैयारियों की समीक्षा की तथा राज्य में सुशासन लागू करने की बात कही।” इस बैठक में राज्यपाल सत्य पाल मलिक, केन्द्रीय गृह सचिव, सभी चार सलाहकार, सुरक्षा एजेंसियों और सेना के अधिकारियों तथा राज्य के मुख्य सचिव के अलावा राज्य एवं केन्द्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। जम्मू-कश्मीर की मौजूदा सुरक्षा स्थिति पर चर्चा करने के बाद श्री शाह ने सुरक्षा स्थिति के सभी मानकों में हुए सुधारों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आतंकवाद और आतंकवादियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति होनी चाहिए। 
केन्द्रीय गृह मंत्री ने आतंकवाद से लड़ने के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस की सराहना भी की। श्री शाह ने राज्य सरकार को आदेश दिया कि पुलिसकर्मियों की शहादत को स्मरण करने एवं उन्हें सम्मान देते हुए प्रत्येक वर्ष उनके गृह नगरों में सही तरीके से उन्हें श्रद्धांजलि दी जाए। श्री शाह ने कहा कि वह समय-समय पर विभिन्न मोर्चों पर राज्य के प्रदर्शन की समीक्षा करते रहेंगे। 

You might also like