आसमानी कहर से बागबानों किसानों की बढ़ने लगी टेंशन

 तीसा-उपमंडल में बारिश व ओलावृष्टि के तौर पर बरपे आसमानी कहर से बागबान चिंतित हो उठे हैं। मौसम का यह मिजाज किसानों व बागबानों की सेब की बंपर फसलों की उम्मीदों पर पानी फेर सकता है। बागबानों की मानें तो काफी समय बंपर बर्फबारी के बाद सेब के पेड़ों के चिलिंग आवर पूरे होने से अच्छी फसल की उम्मीद लगाए हुए हैं। ऐसे में मौसम का बिगड़ा मिजाज मुश्किलें पैदा कर सकता है। बतातें चलें कि तीसा उपमंडल में सेब की फसल बागबानों की आर्थिकी की मुख्य रीढ़ है। सेब की फसल से ही बागबानों के पूरे वर्ष का खान- खर्च चलता है। इस बार सेब की बंपर फसल की उम्मीद से किसानों के चेहरे काफी खिले हुए थे। मगर पिछले दो- तीन दिनों से मौसम के करवट बदलने से बारिश के साथ ओलावृष्टि फसल को नुकसान पहंुचा रही है। जिससे बागबान परेशान दिख रहे हैं। बागबान राम लाल, महेश, कर्म चंद, ज्ञान सिंह व हरि लाल ने बताया कि अब सेब की बंपर फसल की उम्मीदें मौसम की परिस्थितियों पर निर्भर है। पिछले दो दिनों से ओलावृष्टि होने से सेब की फसल को नुकसान की संभावना से उनकी चिंता काफी बढ़ गई हैं।

You might also like