इस बार वीआईपी हुआ आम… कम पैदावार से बढ़ेंगे दाम

नूरपुर में 40 फीसदी फसल कम होने से फलों के राजा का स्वाद होगा महंगा, बागीचे खाली

नूरपूर -इस बार आम की फसल का ऑफ  ईयर होने के कारण जिला कांगड़ा समेत प्रदेश में आम की फसल की पैदावार 40 प्रतिशत कम होने की उम्मीद है, जिससे प्रदेश के साथ-साथ जिला के बागबानों को आम की आमदनी का तगड़ा झटका लग सकता है। नूरपुर क्षेत्र में तो कई जगहों पर आम के हालात काफी खराब हैं। यहां पिछले वर्ष आम के बागीचे आम की पैदावार से भरपूर थे,  वहीं इस बार ज्यादातर बागीचे इस फसल की ऑफ  ईयर की मार के चलते खाली पड़े है । अब इस वर्ष ऑफ  ईयर की मार से बागबान चिंतित है । इस ऑफ  ईयर की मार से आम की पैदावार 40 प्रतिशत तक कम हो सकती है तथा कम पैदावार की वजह से इस बार कांगड़ा के रसीले आम के दाम कुछ ज्यादा ही होंगे। जिला कांगड़ा के तहत पड़ते क्षेत्र में खासकर नूरपुर क्षेत्र में आम के बागीचों में कम बौर पड़ा था और अब जिन पौधों पर आम के फल लगे हैं उनका साइज लगातार बढ़ रहा है । माना जाता है कि आम के बागीचों में फरवरी माह से बौर पड़ना शुरू हो जाता है और मार्च माह तक यह प्रक्रिया पूरी हो जाती है । अब इनका साइज काफी अच्छा हो गया है और जुलाई माह में यह पकना शुरू हो जाते हैं। अब बारिश पड़ने से आम के फल का साइज जल्दी बढ़ना शुरू होगा।

यहां हैं आम के बागीचे

जिला कांगड़ा में विभिन्न स्थानों के आलावा नूरपुर क्षेत्र में जौंटा, खजियां, नागनी, सुल्याली, जाच्छ, वासा, गनोह, राजा का तालाब, रैहन, गोलवां, छत्तर, गंगथ, इंदपुर, इंदौरा व डाहकुलाड़ा समेत कई स्थानों पर आम के बागीचे हैं। यहां प्रति वर्ष आम की फसल का भारी उत्पादन होता है।

क्या है ऑफ  व ऑन ईयर

विशेषज्ञों के मुताबिक एक वर्ष आम की भारी पैदावार होती है और उस वर्ष को ऑन ईयर कहते है, जबकि एक वर्ष आम कम पैदावार होती है, तो उसे आम की फसल का ऑफ  ईयर कहते है। इस वर्ष आम की फसल का ऑफ  ईयर है। इसमें आम की करीब 40 प्रतिशत कम पैदावार होने की उम्मीद है।

जिला में कब,  कितना उत्पादन

जिला कांगड़ा में वर्ष 2013-14 में फलों का कुल क्षेत्रफल लगभग  38625  हेक्टेयर व आम के फलों का क्षेत्रफल  लगभग 20963 हेक्टेयर था,  जिसमें कुल फलों का उत्पादन लगभग 38875 मीट्रिक टन था जिसमें आम का उत्पादन 10183 मीट्रिक टन था।   वर्ष 2014-15 में फलों का कुल क्षेत्रफल लगभग 38642 हेक्टेयर व आम के फलों का क्षेत्रफल  लगभग 21633 हेक्टेयर था। इसमें कुल फलों का उत्पादन लगभग 44166 मीट्रिक टन था, जिसमें आम के फलों का उत्पादन 22533 मीट्रिक टन था । वर्ष 2015-16 में फलों का कुल क्षेत्रफल लगभग 39841 हेक्टेयर व आम के फलों का क्षेत्रफल लगभग 20880 हेक्टेयर था। इसमें कुल फलों का उत्पादन लगभग 52185 मीट्रिक टन था, जिसमें आम का उत्पादन 24900 मीट्रिक टन था।  

You might also like