ऊना में मोडिफाइड बुलेट वालों की खैर नहीं

ऊना—बुलेट पर मोडिफाई साइलेंसर लगाकर पटाखे बजाने वाले युवाओं को सबक सिखाने के लिए ऊना पुलिस एक्शन मोड में आ गई है। 100 दिनों तक चलने वाले इस विशेष कैंपेन को सफल बनाने के लिए दो दर्जन पुलिस कर्मचारियों की विशेष टीम गठित की गई है, जो कि सादी वर्दी में शहर के मुख्य चौराहों पर मोडिफाई साइलेंसर वाली बुलेट बाइक पर नजर गड़ाए हुए है। जैसे ही टीम को मोडिफाई साइलेंसर की भनक लगती है तो टीम तुरंत इसे जब्त कर कार्रवाई कर रही है। छह दिनों से शुरू की गई इस मुहिम में अभी तक डेढ़ सौ पटाखा बजाने वाली बुलेट के चालान काटे गए हैं। एसपी दिवाकर शर्मा स्वयं इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। इस विशेष टीम को निर्देश दिए हैं कि रोजाना मोडिफाई साइलेंसर लगाने वाले बुलेट के कितने चालान किए है इसकी फोटो सहित रिपोर्ट दें। मोडिफाई साइलेंसरों के चालान काटने के साथ-साथ टीम इसके इसे बदलने की चेतावनी भी चालकों को दे रही है। बताते चलें कि  जिला का युवा वर्ग बुलेट बाइक में मोडिफाई साइलेंसर लगाकर जोर-जोर से पटाखे बजाते हैं। कई दफा युवा शिक्षण संस्थानों के बाहर भी बुलेट पर पटाखे बजाते थे, जिससे आमजन के साथ-साथ विद्यार्थियों की पढ़ाई भी बाधित होती थी। वहीं, इससे वायु प्रदूषण भी फैलता है। पटाखा गैंग से तंग आकर प्रबुद्ध वर्ग व लोगों ने इसकी शिकायतें एसपी ऊना से की। इसके बाद एसपी ऊना ने इसके लिए विशेष टीम का गठन करके बुलेट पर मोडिफाई साइलेंसर लगाकर पटाखे बजाने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। वहीं, एसपी, ऊना दिवाकर शर्मा ने कहा कि बुलेट पर पटाखे बजाकर ध्वनि प्रदूषण फैलाने व आमजन की शांति भंग करने वालों को बख्शा नही जाएगा। यह विशेष अभियान 100 दिन तक लगातार जारी रहेगा।

You might also like