ऊपर उठेंगे गरीबी रेखा से नीचे वाले

पंचायतीराज मंत्री बोले, बढ़ाए जाएंगे लोगों की आय के साधन

शिमला —हिमाचल प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे रह रहे लोगों की विशेष सहायता की जाएगी। वहीं, इस रेखा के तहत जिन लोगों को फायदा नहीं मिल रहा है, उनके उत्थान व उनकी आय बढ़ाने के लिए कई योजनाएं सरकार द्वारा शुरू की जाएंगी। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने शिमला में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा 24 और 25 जून को आयोजित राज्य स्तरीय कार्यशाला का शुभारंभ करते हुए यह बात कही। दो दिवसीय कार्यशाला के प्रथम दिन वीरेंद्र कंवर ने कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में विकास व प्रगति के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए मनरेगा के तहत जिला व खंड स्तर पर कई विकासात्मक कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले गरीब वर्ग के लोगों के उत्थान और उनकी आय बढ़ाने के उपाय ढूंढने होंगे। इस मौके पर निदेशक ग्रामीण विकास राकेश कंवर ने कहा कि लोगों को रोजगार प्रदान करने के लिए योजनाओं का कार्यान्वयन प्रभावी ढंग से करना चाहिए। कार्यशाला में योजनाओं के अनुश्रवण, वर्षा जल संग्रहण, मनरेगा, राष्ट्रीय ग्रामीण मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना तथा मुख्यमंत्री आवास योजना पर भी विस्तृत चर्चा की गई। कार्यशाला के दौरान विकास खंड गोहर के खंड विकास अधिकारी निशांत शर्मा ने ग्राम पंचायत मुरहार में किए गए विकासात्मक कार्यों पर प्रस्तुति दी।  इस अवसर पर सचिव ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज आरएन बत्ता, अतिरिक्त निदेशक ग्रामीण विकास सचिन कंवल, संयुक्त निदेशक ज्ञान सागर नेगी, विभिन्न खंड विकास अधिकारी, पंचायती राज प्रतिनिधि तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

You might also like