एक क्लिक से मुजरिम तक पहुंचेगी पुलिस

धर्मशाला —अब पुलिस को किसी भी अपराध के घटित होने या उसकी पूर्व सूचना देने के लिए थाने पहुंचने और फोन करने के चक्कर में परेशान नहीं होना पड़ेगा। मोबाइल पर पुलिस ऐप के तहत मात्र एक क्लिक पर पुलिस घटनास्थल और मुजरिम के पास पहुंच जाएगी। इतना ही नहीं, मोबाइल ऐप से घटना और अपराध व अपराधी की सूचना देने वाले व्यक्ति का भी कोई पता नहीं लग पाएगा, लेकिन पुलिस ऐप में दी गई एक छोटी सी जानकारी पुलिस के बड़े अधिकारियों के पास भी पहुंचेगी। इससे पुलिस को उस पर तुरंत कार्रवाई करने के सख्त निर्देश जारी होंगे। इसके अलावा ग्रेजुएट कांस्टेबल्स को अब तीन साल से कम सजा के अपराध वाले सभी मामलों को सुलझाने की भी पावर प्रदान कर दी गई है। इससे पहले ग्रेजुएट कांस्टेबल्स को वाहनों के चालान करने की शक्तियां प्रदान की गई थीं, जिससे अब असर देखने को मिल रहा है।  जिला कांगड़ा पुलिस अधीक्षक कार्यालय धर्मशाला में नॉर्दर्न जोन कांगड़ा-चंबा व ऊना के जिलों की  ला एंड आर्डर की त्रैमासिक बैठक हिमाचल प्रदेश पुलिस के डीजीपी सीता राम मरड़ी की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक की गई। बैठक में एडीजीपी श्याम भगत नेगी व आईजी पुलिस डीके यादव सहित कांगड़ा के एसपी संतोष पटियाल, ऊना के एसपी दिवाकर शर्मा, चंबा की एसपी मोनिका भुटुंगरू सहित सभी पुलिस अधिकारी और सभी एसएचओ भी मौजूद रहे। इस दौरान प्रदेश भर सहित नॉर्दर्न जोन के क्राइम के विभिन्न पक्षों को लेकर विचार-विमर्श किया गया। बता दें कि वर्ष 2019 के तीन माह में प्रदेश भर में अब तक 48.5 प्रतिशत और नॉर्थ जोन में 27.04 प्रतिशत की वृद्धि मामले दर्ज होने में हुई है। इस साल प्रदेश में अब तक 6208, जबकि नॉर्थ जोन में 1949 मामले दर्ज हुए हैं। प्रदेश में हत्या के 16 व नोर्थ जोन में छह मामले दर्ज हुए हैं, उधर, डीजीपी सीता राम मरड़ी ने सभी पुलिस अधिकारियों को लॉ एंड ऑर्डर में सुधार करने के लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसमें यातायात व्यवस्था को सुधार कर दुर्घटनाओं को कम करने सहित साइबर क्राइम पर भी अंकुश लगाने की बात कही है। अब तक प्रदेश पुलिस ऑनलाइन फ्रॉड और नशे का कारोबार करने वाले मामले सुलझाने में कामयाब नहीं हो पाई है, इसमेें जल्द ही सुधार किया जाएगा।

प्रदेश पुलिस अव्वल

देश भर में पुलिस व्यवस्था की स्थिति पर रिपोर्ट बनाने को गैर-राजनीतिक संगठन सीएसडीएस ने एक सर्वे करवाया है। इसके तहत आपराधिक मामलों के निपटारा करने में देश भर में तीसरे रैंक, सहीं अन्वेषण में प्रथम, जनता की संतुष्टि पर दूसरा स्थान, पुलिस का भय न होने पर पहला रैंक, वरिष्ठ अधिकारियों पर विश्वास पर दूसरा रैंक और पुलिस पर विश्वास पर चौथा रैंक प्राप्त किया है।

 

You might also like