एनएचएम कर्मी के मानसिक उत्पीड़न पर बीएमओ सस्पेंड

 घुमारवीं -घुमारवीं सिविल अस्पताल में कार्यरत एनएचएम कर्मचारी का मानसिक उत्पीड़न करने और ड्यूटी टाइम में भी नशे में रहने के आरोप में घुमारवीं के बीएमओ को निलंबित कर दिया गया है। उच्चाधिकारियों की ओर से बीएमओ के निलंबन के आदेश जारी हो गए हैं। अधिकारियों का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। जानकारी के अनुसार बीएमओ एके सिंह पर अस्पताल में कार्यरत एनएचएम कर्मचारी अरविंद ने मानसिक उत्पीड़न करने व धमकाने का आरोप लगाया था, जिसे लेकर उन्होंने उच्चाधिकारियों के पास शिकायत की थी। शुक्रवार को कर्मचारी ने उपमंडलाधिकारी शशिपाल शर्मा को भी ज्ञापन के माध्यम से घटना के बारे अवगत करवाया। एनएचएम कर्मचारी ने आरोप लगाया है कि आए दिन बीएमओ घुमारवीं द्वारा उसे नौकरी से निकालने की धमकियां दी जाती हैं और कार्यालय की नियमित गतिविधियों के बहाने बुलाकर अभद्र व्यवहार किया जाता है। अरविंद ने बताया कि इस प्रताड़ना से वह डिप्रेशन का शिकार हो चुके हैं। अब उन्हें कार्यालय में जाने से भी डर लगता है। अरविंद ने शिकायत पत्र में कहा कि अब उन्हें घर परिवार की भी चिंता सता रही है। उनका कहना है कि मजबूर होकर सरकार को इस संदर्भ में शिकायत पत्र दिया है। शिकायत पत्र में उन्होंने कहा है कि बीएमओ ज्यादातर शराब के नशे में रहते हैं और कभी फोन पर तो कभी सामने धमकियां दी जाती हैं। बरहाल कड़ी कार्रवाई करते हुए उच्चाधिकारियों ने बीएमओ के निलंबन के आदेश जारी कर दिए हैं। निदेशक स्वास्थ्य विभाग अजय गुप्ता ने कहा कि बीएमओ घुमारवीं के निलंबन के आदेश जारी कर दिए हैं। बीएमओ पर कर्मचारी के मानसिक उत्पीड़न का आरोप है। मामले की गहन छानबीन की जा रही है और सामने आए तथ्यों के आधार पर अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसी बीच घुमारवीं के एसडीएम  शशिपाल शर्मा  ने भी बताया कि एनएचएम कर्मचारी ने बीएमओ घुमारवीं पर मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए शिकायत पत्र दिया है। विभाग के उच्चाधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए बीएमओ घुमारवीं को निलंबित कर दिया है।

You might also like