एनएच-305 ठप,बढ़ा 20 किलोमीटर का फेर

रामपुर बुशहर—सैंज-लुहरी-औट एनएच 305 सड़क मार्ग भू-स्खलन के कारण चार दिन से बंद पड़ा है, जिसके कारण इस मार्ग से गुजरने वाले वाहनों को 20 किलोमीटर का अतिरिक्त सफर तय करना पड़ रहा है, जिससे आम लोगों सहित बाहरी राज्यों से आए पर्यटकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि यह सड़क एनएच के अधीन आती है। ऐसे में एनएच विभाग को इस सड़क मार्ग को त्वरित तौर पर बहाल करना चाहिए, लेकिन चार दिन से इस सड़क को बहाल नहीं किया गया, जिसके कारण एनएच की सुस्ती से लोग खासे खफा है। लोगों का कहना है कि मौके पर केवल जेसीबी मशीन लगाई गई है, जिससे सड़क बहाल होने में देर होना स्वाभाविक है। बताते चलंे कि यह सड़क मार्ग मंडी, करसोग को जोड़ता है। हर दिन बड़ी संख्या में यहां से सरकारी बसों सहित छोटे और बड़े वाहन गुजरते हैं। जिन लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है कि सड़क बाधित है उनकी मुश्किलें बढ़ जाती हैं। वहीं, लुहरी की तरफ से जाते हुए भी सड़क बाधित होने के कारण एनएच से गुजरने वाले वाहनों को अन्य जगह से जाना पड़ता है। लोगों का कहना है कि इस एनएच को जब चौड़ा किया जा रहा था तब इसकी कटिंग नियमानुसार होनी चाहिए थी, ताकि इस तरह की समस्या पैदा न हो। ग्रामीणों का कहना है कि एनएच का चार दिन तक बंद रहना अपने आप में सवाल खड़े करता है। ऐसे में सड़क बहाली को लेकर एनएच को भारी मशीनरी प्रयोग में लानी चाहिए।

पर्यटन सीजन पर पड़ रहा असर

मैदानी इलाकों में भीषण गर्मी पड़ने से पर्यटक सुकून की तलाश में हिमाचल आ रहे हंै। पर्यटकांे की पसंदीदा जगह मनाली, कुल्लू, किन्नौर है। ऐसे में जो पर्यटक पहले मनाली आता है और यहां से किन्नौर और काजा जाना चाहता है, तो वह इस सड़क मार्ग से ही आएगा। लेकिन सड़क बंद होने से पर्यटकों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई पर्यटक सड़क बाधित होने कारण मनाली से ओ ही नहीं आते। वहीं, दूसरी ओर किन्नौर से मनाली जाने वाले पर्यटक भी परेशान हो रहे हैं।

You might also like