एनीमिया से निपटने के लिए बंगाणा तैयार

ऊना—आयुष मंत्रालय ने पोषण अभियान के तहत एनीमिया मुक्त बनाने के लिए जिला ऊना का बंगाणा खंड चयनित किया है। उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने बुधवार को पोषण अभियान पर जिला स्तरीय समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। डीसी ने कहा कि बंगाणा खंड की 40 पंचायतों के 349 गांवों में लगभग 75 हजार आबादी के लिए यह अभियान चलेगा, ताकि एनीमिया के बारे में व्यापक जागरूकता पैदा की जा सके और इसका निदान भी हो सके। बैठक में उन्होंने कहा कि बच्चों व महिलाओं में एनीमिया की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। ऐसे में समस्या से निपटने के लिए विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके माता-पिता की भी काउंसिलिंग की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पोषण अभियान का उद्देश्य अनीमिया के मामलों को कम करना, अनीमिया के बारे में जागरूकता फैलाना और सही खान-पान के बारे में जानकारी प्रदान करना है। बैठक में जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. सुशील चंद्र नाग ने कहा कि जुलाई महीने से पोषण अभियान के अंतर्गत विभाग जागरूकता कार्यक्रम शुरू करेगा। अगस्त में पंचायत स्तर पर कुल 81 कैंप लगाए जाएंगे, जिनके माध्यम से एनीमिया के मरीजों की पहचान की जाएगी। उन्होंने बताया कि कैंप लगाने के लिए आयुर्वेद विभाग ने 13 टीमों का गठन किया है। मरीजों की पहचान करने के बाद उन्हें सही खान-पान के बारे में जानकारी दी जाएगी साथ ही जरूरत पड़ने पर दवाएं भी दी जाएगी। दो महीने के बाद मरीजों के स्वास्थ्य की दोबारा जांच की जाएगी। वहीं, इस बैठक में जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. सुशील चंद्र नाग, डा. राजेश, जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस सतनाम सिंह, जिला पंचायत अधिकारी रमन शर्मा, सीडीपीओ हरीश मिश्रा, उपनिदेशक प्रारंभिक शिक्षा संदीप गुप्ता, उपनिदेशक उच्च शिक्षा कमलेश कुमारी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

You might also like