एम्स-फोरलेन-रेलवे लाइन पकड़ेगी रफ्तार

बिलासपुर—लोकसभा चुनाव में हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से लगातार चौथी बार जीत का चौका लगाने वाले सांसद अनुराग ठाकुर अब केंद्र में (वित्त एवं को-आपरेटिव अफेयर्ज) राज्यमंत्री के रूप में दायित्व का निर्वहन करेंगे। अनुराग ठाकुर को मोदी सरकार में अहम जिम्मेदारी मिलने से विस्थापितों के जिला बिलासपुर को बड़ी उम्मीदें हैं। पिछले दो सालों से ठप पड़े कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन के निर्माण कार्य को गति मिलेगी तो वहीं, कोठीपुरा में निर्माणाधीन एम्स के काम को रफ्तार मिलने के अलावा सामरिक दृष्टि से अत्यंत महत्त्वपूर्ण भानुपल्ली-बिलासपुर-बरमाणा रेलवे लाइन भी पहाड़ चढ़ेगी। यही तीन बड़े प्रोजेक्ट हैं, जिन्हें सिरे चढ़ाने के लिए अनुराग ठाकुर संकल्पित हैं। बिलासपुर जिला से ताल्लुक रखने वाले पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के प्रयासों की बदौलत एम्स की सौगात मिली थी और इस कार्य में सांसद अनुराग ठाकुर सहित अन्य नेताओं की भी भूमिका रही है। तत्कालीन कांग्रेस सरकार के समय कोठीपुरा मंे एम्स के लिए जमीन चिन्हित की गई और आगामी कार्रवाई आरंभ हुई। नड्डा ने जमीन की फोरेस्ट क्लीयरेंस के साथ-साथ बजट का प्रावधान भी करवाया और लोकसभा चुनाव से ठीक पहले भूमि पूजन कर निर्माण कार्य भी शुरू करवा दिया था। इस समय एम्स का निर्माण कार्य चल रहा है और केंद्र में फिर से नरेंद्र मोदी  के नेतृत्व में सरकार बनने से इस काम में गति आएगी, क्योंकि एम्स की आधारशिला प्रधानमंत्री ने ही रखी थी। लिहाजा इस प्रोजेक्ट के सिरे चढ़ने से बिलासपुर जिला ही नहीं, बल्कि समूचे हिमाचल के लोगों को स्वास्थ्य लाभ की सुविधा मिलेगी। इसी प्रकार कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन का काम पिछले दो सालों से ठप पड़ा है। हालांकि इस मसले पर स्थानीय लोगों ने कई बार आवाज बुलंद की है और राज्य सरकार की ओर से भी संज्ञान लिया गया, लेकिन बावजूद इसके अभी तक काम शुरू नहीं हो पाया है। ऐसे मंे इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए तय किए गए लक्ष्य भी अब आगे खिसक गया है। केंद्र में सरकार बनने के बाद सांसद अनुराग ठाकुर फोरलेन के निर्माण कार्य को न केवल शुरू करवाएंगे, बल्कि एक तय समयसीमा के अंदर पूरा भी करवाएंगे, जिससे इस क्षेत्र मंे पर्यटन विकास होगा और स्थानीय लोगों के लिए प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार के साधन भी सृजित होंगे। दूसरी ओर, सामरिक दृष्टि से अति महत्त्वपूर्ण भानुपल्ली-बरमाणा रेलवे लाइन का काम धीमी गति से चल रहा है। हालांकि जिला की पंजाब राज्य से सटी सीमा पर शुरुआती दस गांवों में जमीन अधिग्रहण का कार्य पूरा होने के बाद अगली कार्रवाई शुरू हो चुकी है, लेकिन सालों से यह रेल पहाड़ चढ़ नहीं पा रही लिहाजा अब मोदी सरकार बनने के बाद सांसद अनुराग ठाकुर से उम्मीद है कि वह इस रेलवे लाइन के निर्माण कार्य को गति प्रदान करेंगे और बिलासपुर व बरमाणा तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाएंगे।

You might also like