एसएफआई ने एचपीयू प्रशासन पर लगाए अनदेखी के आरोप

शिमला —एसएफआई प्रदेश विश्वविद्यालय इकाई ने एपचीयू प्रशासन पर अनदेखी का आरोप लगाया है। एसएफआई छात्र संगठन ने बताया कि ब्वायज होस्टल में पिछले सात दिनों से लगातार छात्र रात के समय खुले आसमान के नीचे आंदोलन कर रहे हैं। रविवार रात से आंदोलन कर रहे छात्रों में डर का माहौल बना हुआ है। जब आंदोलन कर रहे छात्रों के आसपास एक बड़ा सांप निकल आया। ऐसे में छात्रों ने प्रशासन को पहले ही आगाह कराया था कि उन्हें रात के समय लाइब्रेरी जाने दिया जाए। छात्रों के पास बाकायदा लाइब्रेरी जाने की अनुमति भी है, लेकिन प्रशासन द्वारा छात्रों की जायज मांग को दरकिनार कर छात्रों की जान के साथ खिलवाड़ करने की पहल की जा रही है। छात्र अपनी जान को जोखिम में डालकर आंदोलन कर रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारी लगातार छात्रों की मांगों को अनदेखा कर रहे हैं। एसएफआई के कैंपस अध्यक्ष विक्रम ठाकुर ने बताया कि पिछली रात सांप देखा गया है, ऐसे में  वह सांप अगर किसी छात्र को डस देता तो किसकी जिम्मेदारी होती? एसएफआई कैंपस सचिव जीवन ठाकुर ने कहा कि प्रशासन छात्रों को सुविधाएं देने के बजाय उनकी जान जोखिम में डालने को उतारू है। एसएफआई ने बताया कि आखिरकार विश्वविद्यालय प्रशासन के भी छात्रों के प्रति उत्तरदायित्व हैं, जिनसे पूरी तरह से प्रशासन अपने हाथ पीछे खींच रहा है। कैंपस अध्यक्ष विक्रम ठाकुर ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा है कि जल्द से जल्द प्रशासन इस ओर कोई उचित कदम नहीं उठाता है तो आने वाले समय में एसएफआई उग्र आंदोलन करेगी, जिसका जिम्मेदार एचपीयू प्रशासन स्वयं होगा।

You might also like