‘एसओएस फ्रेंड’ करेगा पूर्व सैनिकों की मदद

विशेष ऐप के तहत मिलेगी सुविधा, ईसीएचएस सेंटर हैड कर रहा योजना पर काम

 हमीरपुर —ईसीएचएस का लाभ लेने वाले लाखों पूर्व सैनिकों व अर्द्धसैनिक बल के पूर्व जवानों की सेहत का ख्याल अब ‘एसओएस फ्रेंड’ रखेगा। बहुत जल्द ईसीएचएस सेंटर हैड एक ऐप तैयार करने जा रहा है। इस ऐप में ‘एसओएस फ्रेंड’ का ऑप्शन रहेगा। एसओएस फ्रेंड के लिए पूर्व सैनिकों को किसी का नाम दर्ज करवाना होगा, जो किसी भी समय उसकी मदद करने के लिए तैयार रहे। यह रिश्तेदार से लेकर कोई भी व्यक्ति हो सकता है। अगर पूर्व सैनिक अकेला है और आपात स्थिति पैदा हो गई है, तो ऐप से एक क्लिक पर सीधा मैसेज एसओएस फ्रेंड को चला जाएगा तथा लोकेशन भी पता चल जाएगी। इससे मुसीबत में फंसे व्यक्ति तक जल्द मदद पहुंचेगी। पूर्व सैनिकों की सेहत को ध्यान में रखते हुए यह योजना तैयार की गई है। हालांकि अभी तक यह ऐप पूरी तरह तैयार नहीं है। हालांकि इससे अकेले बसर कर रहे पूर्व सैनिकों को राहत मिलेगी। बता दें कि एक्स सर्विसमैन कंट्रीब्यूट्री हैल्थ स्कीम के तहत अब 16 केवी व 32 केवी के कार्ड बंद कर दिए गए हैं। इनकी जगह 64 केवी के कार्ड का प्रयोग होगा। इस कार्ड में तमाम सुविधाओं को शामिल किया जा रहा था, ताकि सिर्फ एक कार्ड से ही पूर्व सैनिक जरूरतानुसार लाभ ले सके। इसी कड़ी में एसओएस फ्रेंड ऐप की सुविधा भी शामिल की जा रही है।  गौरतलब है कि एसओएस का प्रयोग डाक्टरी भाषा में किया जाता है। आपातकालीन दवाइयां लिखने के दौरान चिकित्सक इनके आगे एसओएस लिखते हैं। इसे कोड के तौर पर लिखा जाता है। अब इसी शब्द के प्रयोग का प्रयोग एसओएस फ्रेंड के रूप में किया जाएगा। विभाग की मानें, तो अभी तक कार्ड बनाने का कार्य चल रहा है। पहले पूर्व सैनिकों को 64 केवी के कार्ड वितरित किए जाएंगे। इसके बाद इस ऐप का निर्माण किया जाएगा। फिलहाल 64 केवी कार्ड निर्माण की जारी अधिसूचना में एसओएस फ्रेंड्स का कॉलम भी शामिल है। साफ है कि सरकार पूर्व सैनिकों की सेहत को लेकर काफी चिंतित है।

You might also like