ऑक्सीजन न मिलने से मर रही मछलियां

रिवालसर -रिवालसर झील में मछलियों के मरने का सिलसिला दूसरे दिन भी जारी रहा। बुधवार को करीब 50 मछलियां झील में मृत पाई गईं। मछलियों के मरने की घटना के बाद मत्स्य विभाग की ओर से मत्स्य अधिकारी ऋचा गुप्ता ने झील का निरीक्षण किया और पानी के सैंपल लिए, जिसमें ऑक्सीजन की मात्रा 5.2 पीपीएम मापी गई। उन्होंने बताया कि झील में ऑक्सीजन की मात्रा 9.0  पीपीएम होना जरूरी है। ऋचा गुप्ता ने बताया कि मछलियों के मरने का मुख्य कारण झील में ऑक्सीजन की भारी कमी व फिश फीडिंग है। उन्होंने ऑक्सीजन की कमी का मुख्य कारण पानी का सर्कुलेट न होना व बाहरी नालियों से आकर झील में समा रही गाद सहित गंदा पानी बताया है। इसके लिए उन्होंने झील में फ्रेश वाटर डालने, एरियेटर लगाने व लगातार नाव चलाने की बात कही, जिससे पानी सर्कुलेट होता रहे। साथ ही उन्होंने फिश फीडिंग रोकने के लिए हरसंभव उपाय करने पर जोर दिया।

 

 

You might also like