ओवरलोडिंग पर अब नहीं बख्शेगी पुलिस

सरकार के आदेश पर पुलिस महानिदेशक ने अलर्ट किए अधिकारी, हादसे रोकने में जुट जाएं

शिमला —हिमाचल प्रदेश में बढ़ रहे सड़क हादसों पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की गंभीरता को देखते हुए पुलिस भी गंभीर हो गई है। पुलिस के महानिदेशक ने तीनों रेंज के अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि वह सख्ती के साथ सड़क हादसे रोकने के लिए कदम उठाएं। रविवार को अवकाश के बावजूद राज्य पुलिस प्रमुख एसआर मरडी ने विभाग की तीनों रेंज में तैनात डीआईजी व जिला पुलिस कप्तानों को वाहनों की नियमित जांच सुनिश्चित बनाने को कहा है। इसके साथ ही ओवरलोडिंग करने वाले वाहनों के चालान कर साप्ताहिक आधार पर रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को भेजने को कहा गया है। इस तरह से लोगों की जान से खिलवाड़ करने वाले लोगों को अब पुलिस किसी कीमत में नहीं बख्शेगी। वाहनों में क्षमता से अधिक सवारियां भरने की स्थिति में पुलिस चालान के साथ-साथ चालक का लाइसेंस रद्द करने के अलावा बस परमिट भी रद्द करने की सिफारिश परिवहन विभाग को करेगी। बता दें कि कुछ दिन पूर्व ही बंजार में बड़ा बस हादसा हुआ है, जिसके बाद सरकार ने कड़़े कदम उठाने को कहा है। मुख्यमंत्री ने विदेश यात्रा से पहले अहम बैठक में संबंधित अधिकारियों को तत्परता दिखाने को कहा है।

कई जगह बसें नाममात्र

सरकार के निर्देश के बाद पुलिस महानिदेशक ने सभी जिला पुलिस कप्तानों को नियमित तौर पर वाहनों की चैकिंग करने के निर्देश दिए हैं। वर्ष 1988 के मोटर वाहन अधिनियम की धारा 113 व 114 के तहत भी ओवरलोडिंग दंडनीय अपराध है। ऐसे में पुलिस अब किसी को बख्शने नहीं वाली। सच्चाई यह भी है कि यहां पर बसों की कमी के चलते ओवरलोडिंग होती है। कई क्षेत्रों में बसें नाममात्र की हैं, ऐसे में लोग भी ऐसी बसों में सवार होने के लिए मजबूर हैं। सरकार को बसों की पर्याप्त व्यवस्था भी करनी जरूरी है।

You might also like