ओवरलोडिंग बंद, बच्चे पैदल

आनी—बंजार हादसे के बाद सरकार द्वारा बसों में ओवरलोडिंग को बंद किए जाने के फरमान से जनता पर खासा असर पड़ा है। इस संदर्भ में आनी के पूर्व छात्र नेता एवं आशा एंपोरियम के जितेंद्र शर्मा  बुधवार को प्रदेश सरकार के वन परिवहन एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर से शिमला सचिवालय में मिले और उन्हें अवगत करवाया कि आनी से विभिन्न रूटों के लिए जाने वाली बसों में भी ओवरलोडिंग पूर्णतयः बंद किए जाने से अपने अपने गंतव्य स्थानों की ओर जाने आने वाले यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जबकि सबसे अधिक परेशानी स्कूली बच्चों को झेलनी पड़ रही है, जिन्हें आजतक  प्रतिदिन अपने अपने घरों तक जाने के लिए सवारियां अधिक होने के कारण ओवरलोडिंग का सहारा का सहारा ही लेना पड़ता था, मगर अब ओवरलोडिंग बंद किए जाने से उन्हें मजबूरन पैदल ही अपने घरों को जाना पड़ रहा है। जितेंद्र लाड़ी ने कहा कि बसों में ओवरलोडिंग बंद किए जाने से आम जनता को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, हालांकि सुरक्षा की दृष्टि से सरकार का यह फरमान सही है, मगर ग्रामीण क्षेत्रों में बसों की कमी के कारण लोगों को सीमित रूटों की बसों में ही मजबूरन सफर करना पड़ता हैए और इन्ही बसों में ही कई स्कूली बच्चों व कर्मचारियों को भी आना जाना पड़ता है ऐसे में सरकार व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पहले अतिरिक्त बसों का प्रावधान करे, ताकि आम जनता को परेशानी का सामना न करे। वहीं वन, परिवहन एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आश्वासन दिया कि इस समस्या को जल्द सुलझाया जाएगा।

You might also like