…और भिड़ गए महापौर सफाई कर्मचारी संघ के प्रधान

चंडीगढ़ –चंडीगढ़ के महापौर राजेश कालिया ने सफाई कर्मचारी संघ के प्रधान कृष्ण कुमार चड्ढ़ा के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की। उनका आरोप है कि चड्ढ़ा जबरन बैठक में घुसे व उनसे गाली-गलौच करने लगे। उधर कृष्ण कुमार चड्ढ़ा ने भी महापौर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है। चड्ढ़ा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि पहले उन्हें बैठक में बुलाया गया। जब उन्होंने सफाई कर्मचारियों की बात की, तो महापौर ने उनसे दुर्व्यवहार किया। चड्ढ़ा ने भी आरोप लगाया है कि वह तो शांति से अपनी बात रख रहे थे, पर महापौर ने ही उनके बदसलूकी की व उन्हें बैठक से बाहर निकाल दिया। उधर चड्ढ़ा ने चेतावनी दी है कि अगर महापौर ने सफाई कर्मचारियों के साथ इनसाफ नहीं किया और उनके खिलाफ  झूठी शिकायत वापस नहीं ली, तो 15 जून से शहर के सफाई कर्मचारी काम बंद कर देंगे। इस संबंध में सेक्टर-17 के चौकी इंचार्ज का कहना था कि उनके पास महापौर की शिकायत आई है। कृष्ण कुमार चड्ढ़ा के ब्यान दर्ज किए गए हैं। उनका कहना था कि मामले की जांच के बाद प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।

क्या कहते हैं महापौर राजेश कालिया

महापौर के अनुसार बैठक के दौरान निगम के सफाई कर्मचारियों की यूनियन के नेता कृष्ण चड्डा बैठक में घुसे और उन्होंने बहस करनी शुरू कर दी। महापौर के समझाने के बावजूद जब चड्डा नहीं माने, तो महापौर ने चड्डा के खिलाफ पुलिस में  शिकायत कर दी। महापौर ने बताया कि उन्होंने कर्मचारियों के अफसरों के घरों में काम करने को लेकर आयुक्त और अन्य  अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। उनका कहना है कि इस बैठक का चड्डा को जब पता चला तो, वो बिना अनुमति उनके कमरे में घुस गए और कहने लगे की इस मामले में उनसे बैठक की जाए। जब महापौर  ने कहा कि वह अधिकारीयों के साथ बैठक कर रहे हैं आप बाहर जाएं, तो चड्डा ने उनसे बहस करनी शुरू कर दी और बात बढ़ गई। बात बढ़ती देख महापौर ने पुलिस को इसकी शिकायत की। महापौर ने कहा कि उन्होंने कर्मचारियों के अफसरों के घरों में काम करने के मामले की विभागीय जांच के दे दी है। 

क्या कहते हैं कृष्ण चड्ढ़ा

चड्डा ने पुलिस में दर्ज अपने बयान में कहा कि वह वहां बिन बुलाए नहीं गए थे। वहां उन्होंने सफाई कर्मचारियों को रेहडि़यां व अन्य सामान देने की मांग की थी। चड्ढ़ा ने आरोप लगाया कि महापौर अपने ही समाज के खिलाफ  काम कर रहे हैं। इस संबंध में ओम प्रकाश सैणी का कहना था कि वह भी चड्ढ़ा के साथ थे व चड्ढ़ा ने आराम से सफाई कर्मचारियों व  डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्टरों का मुद्दा उठा रहे थे। उनका कहना है कि 15 जून को सभा सफाई कर्मचारियों की बैठक बुलाई गई है व अगली रणनीति पर विचार किया जाएगा।

You might also like