कंडाघाट में एरिफ  कंपनी ने रोपे 300 औषधीय पौधे

कंडाघाट—चंबाघाट से कैथलीघाट तक दूसरे चरण में फोरलेन का कार्य कर रही एरिफ  कंपनी ने भी विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर कंडाघाट में अपने कार्यालय के आसपास खाली पड़ी जगह पर लगभग 300 औषधीय पौधों को रोपा । एरिफ  कंपनी द्वारा आयोजित इस  कार्यक्रम  में कंपनी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मनीष मोंगा ने सबसे पहले कार्यालय  परिसर में तिरंगे को फहराया गया उस के बाद कंपनी में कार्यरत कर्मचारियों को पर्यावरण का हमारे जीवन मे क्या महत्व है  के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम के दौरान एरिफ  कंपनी के जीएम अमित मलिक ने पर्यावरण की सुरक्षा को लेकर व पोलीथिन का प्रयोग न करने व खुले में कूड़े को न जलाने की सभी कर्मचारियों को शपथ दिलाई। इस के बाद एरिफ  कंपनी के  प्रोजेक्ट डायरेक्टर मनीष मोंगा ने कार्यालय के परिसर में पौधा लगाकर इस पौधारोपण कार्यक्रम का शुभांरभ किया । इस दौरन कंपनी के कर्मचारियों ने कार्यालय के आस पास खाली पड़ी जगहों पर विभिन्न प्रजातियों के पौधे रोपे। एरिफ  कंपनी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मनीष मोंगा ने कहा कि  पर्यावरण का हमारे जीवन मे बहुत बड़ा महत्त्व है। वृक्ष इस का मुख्य अंग है। हम सभी को अधिक से अधिक वृक्ष लगाने चाहिए। उन्होंने कहा कि एरिफ  कंपनी द्वारा समय-समय पर क्षेत्र में इस तरह के कार्यक्रमों को आयोजित कर रहा है। वहीं एरिफ  कंपनी के जीएम अमित मलिक ने कहा कि आने वाले समय मे उनकी कंपनी का प्रयास रहेगा कि डेढ़ लाख से अधिक पौधों को रोपा जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा कर्त्तव्य केवल पौधा लगाना ही नहीं है इसकि  सुरक्षा भी करना हमारी जिम्मेदारी है। इस कार्यक्रम में एरिफ  कंपनी के 80 से ज्यादा से ज्यादा कर्मचारियों ने भाग लिया।

You might also like