करसोग के मतिहल में भीषण अग्निकांड, बेकाबू लपटों ने निगला दो मंजिला मकान

करसोग से पांच किलोमीटर दूर मतिहल गांव में शुक्रवार रात को भीषण अग्निकांड हुआ। अग्निकांड में दो कमरों का दो मंजिला मकान राख हो गया। फिलहाल आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है। सौ साल से ज्यादा पुराने मकान में सुलगी चिंगारी से अब तीन परिवार बेघर हो गए हैं। पीडि़त परिवारों को करसोग प्रशासन की ओर से तहसीलदार संजीत शर्मा ने तिरपाल उपलब्ध करवा दी है । वहीं साथ ही बीस हजार की सहायता राशि भी दे दी है। ग्रामीण राजस्व अधिकारी रविंद्र कुमार और खुशीराम नुकसान के आकलन की रिपोर्ट तैयार करने में जुट गए हैं । शुक्रवार शाम को 7:00 बजे भीषण लपटों में घिरे घर के अंदर फंसी 80 साल की बुजुर्ग मुन्नी देवी को पड़ोसियों की मदद से बड़ी मुश्किल से निकाला गया। भीषण लपटें मकान के अंदर रखी हर चीज को राख में बदल गईं। आईआरडीपी में शामिल पीडि़त परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़ भयंकर सदमा दे गया है।

You might also like