कांगड़ा में खाते से उड़ाए दो लाख

पटना में बैठे शातिरों ने खोली के ग्रामीण की जीवन भर की जमापूंजी लूटी

नगरोटा बगवां – जिला कांगड़ा के टांडा स्थित एक प्रतिष्ठित बैंक की शाखा में जमा एक व्यक्ति के एक लाख 99 हजार रुपए अज्ञात शातिरों द्वारा उड़ाए जाने से गरीब परिवार पर आफत का पहाड़ टूट पड़ा है । हालांकि उक्त घटना को करीब एक महीना बीत चुका है, लेकिन पीडि़त परिवार अपनी उम्र भर की खून पसीने की कमाई की भरपाई के लिए दर दर भटक रहा है । दिव्य हिमाचल से रु ब रु हुए काँगड़ा खोली के मिल्खी राम (58) ने रुंधे स्वर में बताया कि कोई अज्ञात व्यक्ति  4 मई से 7 मई के बीच उसके खाते से एक लाख 99 हजार रुपए निकाल कर ले गया। उसने बताता की उसे इस बात की भनक उस समय लगी जब वह बैंक से अपनी घरेलू जरूरत के लिए 22 हजार रुपए की रकम निकालने वहां गया । उस दौरान बैंक ने खाते में 18 हजार के कुल बकाये का हवाला देते हुए मात्र 15 हजार की निकासी ही सुनिश्चित की। छानबीन करने पर बैंक ने उक्त चार दिनों में हुई एक लाख 99 हजार की निकासी का ब्यौरा भी प्रस्तुत किया जो खाताधारक ने निकाली ही नहीं।  बैंक रिपोर्ट में यह सामने आया है कि निकासी पटना में हुई है, जहां न केवल नकद राशि का आहरण हुआ बल्कि बड़ी रकम दूसरे खाते में ट्रांसफर भी की गई है । इस बाबत पीडि़त ने कांगड़ा थाने में बाकायदा रिपोर्ट दर्ज करवाई है, जिसके आधार पर वह् पुलिस तथा बैंक से इंसाफ की लगातार गुहार लगा  रहा है । पीडि़त मिल्खी राम शिक्षा विभाग् के अंतर्गत नगरोटा बगवां में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है, जिसने अपनी दिन-रात की सेवाओं से मिली मेहनत की कमाई को बेटे की शादी के लिए सहेज कर रखा था । यहां तक कि उसका वेतन भी इसी एकमात्र खाते में जमा होता था । खास बात यह भी है कि बकौल पीडि़त उसने न कभी अपना एटीएम किसी को दिया और न ही नंबर किसी को बताया है । बैंक शाखा प्रबंधक से बात की गई तो उन्होंने इस फ्रॉड लेने-देन की पुष्टि की तथा बताया कि मामला सतर्कता प्रकोष्ठ के संज्ञान में लाया गया है तथा जांच की जा रही है ।

You might also like