कांग्रेसियों का सम्मान लेने से मना

सोलन में कार्यकर्ताओं ने कहा, हमने कौन से तीर मारे हैं

सोलन – सोलन कांग्रेस की बैठक में बुधवार को कार्यकर्ताओं ने पार्टी से सम्मान पत्र लेने से मना कर दिया। कार्यकर्ताओं का कहना था कि उन्होंने ऐसा कौन सा तीर मार दिया है, जिसके लिए उन्हें सम्मान मिलना चाहिए। पार्टी हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में बुरी तरह से पराजित हुई है। ऐसा कोई भी बूथ नहीं है जहां कांग्रेस को लीड मिली हो। बावजूद इसके उन्हें जो प्रशस्ति पत्र दिए जा रहे हैं, वे उसके काबिल नहीं है।  सोलन में लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया था। बैठक में सोलन के विधायक व शिमला संसदीय सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रहे डा. कर्नल धनीराम शांडिल विशेष रूप से उपस्थित रहे। दोपहर बाद शुरू हुई इस बैठक में पहले तो चिंतन किया गया और हार के कारणों के बारे में समीक्षा की गई। चिंतन बैठक में हार के कारणों पर कम मंथन किया गया, जबकि कार्यकर्ताओं की पीठ थपथपाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी गई। इस दौरान उन सभी कार्यकर्ताओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया, जो अपने-अपने वार्डों के बूथों पर बैठे थे। दिलचस्प पहलू यह कि उन वार्डों व बूथों से कांग्रेस को लीड नहीं मिली है। बावजूद इसके कार्यकर्ताओं को सम्मान दिया जा रहा था। कार्यक्रम के बाद शहर में यह चर्चा बन गई कि क्या यह सम्मान लीड न दिलवाने के लिए दिया जा रहा है। बैठक में कुछ कार्यकर्ताओं ने सम्मान लेने से बिलकुल मना कर दिया। हालांकि कुछ देर के लिए कार्यकर्ताओं में आपस में तीखी बहस भी हो गई।

You might also like