कारगिल युद्ध के अमर शहीद कुलविंद्र सिंह को दी श्रद्धांजलि

पांवटा साहिब—भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई क्षेत्र ने कारगिल युद्ध के अमर शहीद कुलविंद्र सिंह के शहीद स्मारक डोईयांवाला (गिरिनगर) में श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। यह कार्यक्रम संगठन के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह व सह-सचिव मोहन सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुआ। कारगिल युद्ध में हिमाचल के 62 वीरों ने शहादत दी थी, जिसमें सिरमौर से भी कई वीर जवानों ने देश के लिए बलिदान दिया। इनमें से एक शहीद कुलविंद्र सिंह भी हैं। 14 जून, 1999 को गांव डोईयांवाला (गिरिनगर) तहसील पांवटा साहिब से 18 गड़वाल राईफल में तैनात राईफलमैन कुलविंद्र सिंह ने तोलोलींग (द्रास) सेक्टर की अग्रिम चौकी पर से दुश्मन से लोहा लेते हुए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया। शहीद कुलविंद्र सिंह के पिता ज्ञान चंद व गांव के लोगों को अपने सपूत की शहादत पर आज भी गर्व है। शहीद कुलविंद्र के घर में माता-पिता के अलावा उनकी पत्नी मेलो देवी व पुत्र अंकित है। शहीदी दिवस के उपलक्ष्य में भूतपूर्व सैनिक संगठन के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह ने स्कूली छात्रों को शहीद कुलविंद्र सिंह की गाथा सुनाई तथा देशभक्ति का पाठ पढ़ाया और हमेशा देश की सुरक्षा के लिए तत्त्पर तथा आगे रहने की सलाह दी। इस दौरान वीर नारी मेलो देवी को सम्मानित किया गया। इस मौके पर संगठन के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह, सह-सचिव मोहन सिंह चौहान, पूर्व अध्यक्ष जगत सिंह, पूर्व सचिव सुरेश कुमार, पूर्व मीडिया प्रभारी निरंजन सिंह व कई भूतपूर्व सैनिक तथा कई गणमान्य व्यक्ति, स्थानीय लोग तथा राजकीय उच्च विद्यालय गिरिनगर के विद्यार्थी मौजूद रहे। शहीदी दिवस में शामिल उपस्थित सभी लोगों ने शहीद कुलविंद्र सिंह को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

You might also like