कारवां-ए-अमन बस सेवा सोमवार को भी स्थगित

 

कारवां-ए-अमन बस सेवा सोमवार को भी स्थगित

 जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के बीच चलने वाली कारवां-ए-अमन बस सेवा सोमवार को भी स्थगित रही। आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि बस सेवा चार मार्च से स्थगित है और आज भी स्थगित रहेगी। पाकिस्तान और भारत के बीच संबंधों में सुधार लाने के लिए वर्ष 2005 यह बस सेवा शुरू की गई थी। नियंत्रण रेखा के इस ओर अमन सेतु शांति पुल के मरम्मत का काम अभी जारी है इसलिए बस सेवा चार मार्च से स्थगित कर दी गई है। वर्ष 1947 में विभाजन के बाद लोगों को उनके बिछड़े रिश्तेदारों से मिलाने यह बस बहुत मददगार साबित हुई है। दोनों देशों ने लोगों को ‘अंतरराष्ट्रीय पासपोर्ट’ के बजाय ‘ट्रैवेल परमिट’ पर यात्रा करने की अनुमति देने का भी निर्णय किया गया था। आतंकवादियों के विरोध के बावजूद कट्टरपंथी हुर्रियत कांफ्रेंस (एचसी) के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी और डेमोक्रेटिक फ्रीडम पार्टी (डीएफपी) के प्रमुख शब्बीर अहमद शाह को छोड़कर लगभग सभी अलगाववादी नेता इस बस से पीओके तक की यात्रा कर चुके हैं।

 

You might also like