किन्नर कैलाश के रास्ते में दो पर्यटकों की मौत

 रिकांगपिओ -बिना प्रशासनिक अनुमति किन्नर कैलाश की यात्रा पर निकले दो लोगों की मंगलवार को मौत हो गई। बताया जा रहा है कि पांच सदस्यीय दल किन्नर कैलाश यात्रा के दौरान गणेश पार्क से आगे जा रहा था कि अचानक तबीयत खराब  होने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि एक अन्य लापता हो गया। मृतक की पहचान पीयूष वर्मा (26) पुत्र ज्ञान वर्मा, वीपीओ बड़ा गांव, कुमारसेन तथा लापता व्यक्ति की पहचान वरुण सिंह (28) पुत्र कमल सिंह, झज्जर हरियाणा के रूप में हुई। इसका शव भी बाद में बरामद कर लिया गया। बाकी तीनों सुरक्षित निकाल लिए गए हैं। गौर रहे कि किन्नौर प्रशासन ने बिना अनुमति के पहाड़ों पर ट्रैकिंग न करने के लिए एडवाइजरी जारी की हुई है। प्रशासन द्वारा यह एडवाइजरी किन्नौर के पहाड़ों पर हो रहे मौतों को लेकर जारी की गई है। प्रशासन द्वारा इनकार करने के बावजूद किन्नौर की पहाडि़यों पर ट्रैकिंग का दौर थम नहीं रहा। नतीजतन पहाड़ों पर सुविधाओं के अभाव में अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है। बताया जाता है कि पहाड़ों पर ट्रैकिंग करने वालों में 95 फीसदी लोग बाहरी राज्यों सहित विदेशी हैं। बता दें कि प्रशासन द्वारा आधिकारिक रूप से किन्नर कैलाश की यात्रा पहली अगस्त से 11 अगस्त तक करवाई जाती है। इस दौरान प्रशासन द्वारा बकायदा रेस्क्यू टीमें स्थापित करने के साथ-साथ इस अवधि में पहाड़ों पर मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाती रही है। इस वर्ष अब तक किन्नर कैलाश की यात्रा पर अपने रिस्क पर निकले तीन लोगों की मौत हो चुकी है। किन्नौर प्रशासन पहाड़ों पर हो रही मौतों को देखकर अभी यह निर्णय नहीं ले पाया है कि क्या इस वर्ष किन्नर कैलाश की यात्रा आरंभ की जाए, या नहीं। बावजूद इसके कई लोग जान जोखिम में डाल कर बिना प्रशासनिक अनुमति के यात्रा कर रहे हैं। प्रशासन को चाहिए कि इन यात्राओं पर पूर्ण रोक लगाए, ताकि ऐसी घटनाओं को रोका जा सके।

You might also like