किम ने मार डाले अपने ही राजदूत समेत पांच अफसर

सोल –नॉर्थ कोरिया ने अपने सुप्रीम लीडर किम जोंग उन और अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच दूसरी समिट फेल होने के बाद अपने राजदूत समेत पांच अफसरों को मौत की सजा दे दी। एक दक्षिण कोरियाई अखबार की रिपोर्ट में बताया गया है कि किम हयोक चोल को नॉर्थ कोरिया ने अमरीका के साथ संबंधों को बेहतर बनाने के लिए विशेष राजदूत बनाया था। उनके पास हनोई मीटिंग की रूपरेखा तय करने की जिम्मेदारी थी। वह किम के साथ विशेष ट्रेन से गए थे। रिपोर्ट के मुताबिक चोल को सुप्रीम लीडर के साथ विश्वासघात करने के लिए सजा के तौर पर गोली मार दी गई। अखबार चोसुन इबो ने सूत्रों के हवाले से बताया कि जांच के बाद किम हयोक चोल को मार्च में मिरिम एयरपोर्ट पर विदेश मंत्रालय के चार अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ गोली मार दी गई। हालांकि रिपोर्ट में चार अन्य अधिकारियों के नाम सार्वजनिक नहीं किए गए हैं। चोल फरवरी में हनोई समिट के दौरान अमरीका के विशेष प्रतिनिधि स्टीफन बीगन के समकक्ष थे। कोरियाई मामलों की देख-रेख करने वाले दक्षिण कोरियाई मंत्रालय ने रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। बता दें कि पहले भी नॉर्थ कोरिया में कई वरिष्ठ नेताओं और अफसरों को मौत की सजा दिए जाने की खबरें आती रही हैं।

You might also like