कुल्लू में ग्रामीणों-छात्रों ने किया चक्का जाम

कुल्लू—जिला मुख्यालय से अलग-अलग घाटियों के लिए जाने वाले लोगों के लिए अतिरिक्त बसों का प्रावधान नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों और छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में लोगों को जिला मुख्यालय से अपने अपने घरों तक जाने लिए कोई विकल्प न मिलने के कारण लोगों, स्कूल और कालेज के छात्र-छात्राओं ने कुल्लू बस अड्डे पर दो स्थानों पर चक्का जाम कर दिया है। इस दौरान गुस्साए लोगों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मांगे पूरी करने की आवाज उठाई है। जिससे पूरा शहर जाम हो गया है। चक्का जाम की स्थिति बढ़ता देख पुलिस दल मौके पर पहुंचा और जाम की स्थिति से निपटने में जुटा  गया। लेकिन काफी देर माहौल गर्म रहा। इसके बाद एसपी कुल्लू मौके पर स्वयं पहुंची और लोगों को आश्वासन देकर शांत कर दिया। इसके बाद लोगों का गुस्सा शांत हो गया। बता दें कि बस अड्डा कुल्लू में अप्पर वैली, लगवैली के अलावा खराहल घाटी, ब्यासर, भेखली सारी रोड़ में जाने वाले सैकड़ों लोग और बच्चों ने अपने-अपने क्षेत्र की ओर नहीं जा पा रहे हैं। गौरतलब है कि बंजार के भेउट हादसे के बाद बसों में जिनते सीटर बस से उससे एक भी ज्यादा यात्री को नहीं बैठाया जा रहा है जिस कारण ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोगों के पास दूसरा कोई विकल्प भी नहीं है। ऐसे में लोग बस अड्डे पर ही फंस गए हंै। इसके अलावा जिला भर की हालत दयनीय बनी हुई है। कई स्थानों पर स्कूली छात्र-छात्राओं को पैदल अपने घरों तक पहुंंचना पड़ा है। बंजार के साथ-साथ सैंज और आनी क्षेत्र के सरकारी स्कूलों के बच्चों को बसों में जगह न मिलने के कारण कई किलोमीटर का सफर पैदल तय करना पड़ा है। उधर, एसपी कुल्लू शालिनी अग्निहोत्री ने कहा कि मौके जाकर लोगों की समस्या से वह रूबरू हुई और इसके बाद माहौल को शांत किया। उधर, परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि वह जानते हैं कि लोगों को दिक्कतें आ रही है। इसका समाधान किया जाएगा। लोगों को जल्द बेहतरीन सुविधा प्रदान की जाएगी।

You might also like