केएनएच…स्वच्छता पर जगाया अलख

शिमला -विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर संत निरंकारी चैरिटेबल फांउडेशन द्वारा स्वच्छता व पर्यावरण सरंक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान संत निरंकारी संस्था द्वारा शिमला के केएनएच के समीप साफ-सफाई की गई। हर वर्ष संस्था द्वारा पर्यावरण सरंक्षण को देखते हुए पौधा रोपण व पर्यावरण स्वच्छता को बढ़ावा दिया जाता है। कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज भी मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि निःस्वार्थ भाव से की गई सेवा ही मानवता की सबसे बड़ी पूजा है तथा संत निरंकारी मिशन द्वारा इस दिशा में किया जा रहा कार्य सराहनीय है। उन्होंने बताया कि सभी धर्मों में मानवीय मूल्यों की रक्षा एवं परोपकार तथा सभी जीवों की सहायता को परम धर्म बताया गया है। इस दिशा में सभी मनुष्यों को सोच विचार कर कार्य करने की आवश्यकता है। सुरेश भारद्वाज ने कहा कि संत निरंकारी मिशन के सदस्यों द्वारा स्वच्छता, पौधा रोपण, रक्तदान तथा अनेक सामाजिक कार्यों को व्यवहारिक रूप से अपनाया गया है, जिससे प्रदेश व देश में जरूरतमंद लोगों को राहत मिली है। उन्होंने कहा कि मिशन का प्रत्येक सदस्य हृदय से समाज सेवा के कार्य करता है। इससे समाज के सभी वर्ग लाभान्वित होते हैं। उन्हांेने कहा कि समाज को आज आवश्यकता है, ऐसे ध्येयकर्ताओं की जो ऐसे पुनीत कार्यों में सहयोग प्रदान कर न केवल प्रदेश, बल्कि देश को भी उन्नति और प्रगति के पथ पर अग्रसर करें। शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्वच्छता व पर्यावरण संरक्षण आज की सबसे बड़ी मांग है, जिसके लिए समाज के विभिन्न वर्गों का सहयोग अत्यंत आवश्यक है। सरकार सुविधाएं प्रदान कर सकती है, किंतु उन सुविधाओं को अपनाकर विकास में योगदान देने के लिए सभी का सहयोग जरूरी है। इस अवसर पर नगर निगम शिमला की महापौर कुसुम सदरेट भी मौजूद रहीं। उनहोंने बताया कि संत निरंकारी मिशन के सदस्यों ने अपनी सेवा भाव से सभी को उचित मार्ग दिखाया है। उन्होंने कहा कि मिशन की सामाजिक कार्यों के प्रति विभिन्न मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करने का प्रयास करेंगे। वहीं इस अवसर पर उपमंडलाधिकारी नीरज चांदला ने कहा कि प्रशासन की ओर से संत निरंकारी मिशन को हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी। संत निरंकारी मिशन की शिमला जोन की प्रमुख रजवंत कौर ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हमें बाह्य स्वच्छता के साथ-साथ आंतरिक स्वच्छता पर भी ध्यान देना होगा। यह केवल विचारों की शुद्धता से ही संभव है। इसके साथ ही संत निरंकारी मिशन की प्रशासक रमण सिंह ने अपने संदेश में लोगों से वातावरण को स्वच्छ रखने की अपील की। इस अवसर पर उप महापौर राकेश शर्मा, पार्षद राजीव शर्मा, पूर्व महापौर मधु सूद एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

You might also like