केएमवी जालंधर ने संजोई कालेज की यादें

जालंधर -भारत की विरासत संस्था कन्या महाविद्यालय आटोनॉमस कालेज एवं देश के नंबर वन कालेज की रैकिंग प्राप्त (इंडिया टुडे द्वारा विभिन्न श्रेणियों में प्राप्त) जालंधर 1886 के अपने स्थापना काल से लेकर अब तक लगातार महिला सशक्तिकरण तथा शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी संस्था रही है। पूरे उत्तरी भारत में लड़कियों को शिक्षित करने में अग्रणी संस्था न केवल अपने इतिहास के कारण सबसे उच्च संस्था है, बल्कि इसका वर्तमान भी इस बात का ही अनुरूप है। विद्यालय के संस्थापक लाला देव राज और उनकी सोच को आगे बढ़ाने वाले राय बहादुर बदरी दास, सावित्री देवी, शन्नो देवी के पूर्ण समर्पण तथा दृढ़ प्रयत्नों के साथ-साथ दूरदर्शी सोच के कारण केएमवी ने राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शिक्षा के क्षेत्र में अपनी शानदार उपलब्धियां प्राप्त कीं। विद्यालय के हॉल ऑफ फेम से संबंधित जानकारी  प्रदान करते हुए विद्यालय प्राचार्या प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने बताया कि विद्यालय से संबंधित लगभग तीन सदियों की यादगारों को हॉल ऑफ फेम में पूरी संभाल और सम्मान के साथ प्रदर्शित किया गया है।

You might also like