केयोलीधार बाजार से शराब के ठेके को हटाने की मांग

मंडी –शराब के ठेके को बंद करवाने के लिए मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र सराज की थरजून पंचायत के लोग एक बार फिर से लामबंद हो गए हैं। यह वही पंचायत है जिसने करीब दो साल पहले पंचायत में शराबबंदी लागू की थी और आम सभा की बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर पंचायत में सार्वजनिक स्थानों पर शराबबंदी पर पूरी तरह से पाबंदी लगाकर देश के सामने एक मिसाल पेश की थी। दो साल पहले भी पंचायत के सामने पंचायत घर मुख्यालय केयोलीधार में मौजूद शराब का ठेका रोड़ा बना था जिसे हटाने के लिए पंचायत ने तत्कालीन सरकार के समक्ष आवाज बुलंद की थी मगर पूर्व सरकार ने कोई सुनवाई नहीं की थी और फिर प्रदेश में भाजपा की सरकार के सतासीन होते ही पंचायत की मांग पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शराब के ठेके को केयोलीधार बाजार से हटाकर बिना बस्ती वाले चाहल मोड नामक स्थान पर शिफ्ट करवा दिया था मगर अब पुनः शराब का ठेका केयोलीधार बाजार में खुल गया है जिससे लोगों में भारी रोष पनपने लगा है। मुख्य बाजार में खुले इस शराब के ठेके से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला केयोलीधार व गांव वासियों की आस्था का मुख्य प्रतीक माता लंबोदरी का मंदिर बिल्कुल साथ लगता है स्कूल व मंदिर के साथ खुले ठेके से एक ओर जहां नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। पंचायत के बिगड़ते माहौल को देखते हुए स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों व पंचायत में मौजूद महिला मंडलों की सदस्यों व समाजसेवी संस्थाओं ने सरकार से केयोलीधार बाजार से शराब के ठेके को तुरंत हटाने की मांग की है इसके लिए स्थानीय पंचायत ने बकायदा एक प्रस्ताव पारित कर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर से इस ठेके को बंद करने की अपील की है।

You might also like